राष्ट्रीय

अगस्ता घोटाला : क्रिश्चियन मिशेल को कानूनी मदद देने उसकी वकील आएगी भारत

नई दिल्ली : अगस्तावेस्टलैंड चॉपर घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को भारत लाए जाने के बाद उसकी वकील रोजमैरी पातरेजी ने कहा है कि वह अपने मुवक्किल को कानूनी मदद मुहैया कराने के लिए भारत आएंगी। रोजमैरी ने टाइम्स नाउ से बातचीत में कहा कि वह मिशेल को कानूनी मदद देने और उसका बचाव करने भारत आएंगी। इसके लिए उन्होंने भारत सरकार के पास वीजा का आवेदन किया है। रोजमैरी ने कहा कि उन्हें भारत की न्याय प्रक्रिया के बारे में जानकारी नहीं है। इसके लिए वह अपने दोस्तों की मदद लेंगी। मिशेल की जमानत के लिए उनकी तरफ से आज कोर्ट में अर्जी लगाई जाएगी।

मिशेल की वकील ने कहा कि भारतीय न्याय प्रक्रिया के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। इसे जानने और समझने के लिए वह अपने भारतीय दोस्तों एवं वकीलों की मदद लेंगी। उन्होंने कहा, ‘भारत में कानून कैसे काम करता है। इस बारे में मुझे जानकारी नहीं है। मुझे इसकी जानकारी करनी पड़ेगी। भारत में न्याय प्रक्रिया के बारे में जानने के लिए मैं अपने साथियों और वकीलों से बात करूंगी।

यह पूछे जाने पर पिछले सालों में मिशेल ने चॉपर घोटाले में जिन भारतीय लोगों के नाम लिए हैं उनके बारे में वह क्या जानती हैं। इस पर उन्होंने कहा, ‘मैं नहीं जानती कि मिशेल ने बीते समय में उसने किन भारतीय नामों के बारे में बात की है। उम्मीद है कि भारत सरकार मुझे वीजा देगी। मैंने वीजा के लिए आवेदन दिया है। वीजा मिलने में करीब 10 दिनों का समय लगता है। मैं दिल्ली आ रही हूं। मैं मिशेल का केस लड़ूंगी। हम आज मिशेल के लिए जमानत की अर्जी देंगे क्योंकि मिशेल की सेहत अच्छी नहीं लग रही है।’

बता दें कि यूपीए-2 के दौरान वीवीआईपी चॉपर डील में घोटाले की बात सामने आई। आरोप है कि इस डील को अंजाम तक पहुंचाने के लिए मिशेल ने भारतीय वायु सेना के अधिकारियों एवं कुछ राजनेताओं तक रिश्वत पहुंचाई। मिशेल को इन नामों के बारे में पता है। वह इस घोटाले के राज से पर्दा उठा सकता है। मिशेल ब्रिटेन का नागरिक है लेकिन वह दुबई में रहता था। भारतीय एजेंसियां एवं सीबीआई उसे प्रत्यर्पित कराने में मंगलवार को सफल हो गई। मिशेल का प्रत्यर्पण भारत सरकार एवं सुरक्षा एजेंसियों के लिए एक बड़ी सफलता के तौर पर देखा जा रहा है।

Tags