राष्ट्रीय

हिसार की छात्रा ने जायके के सफर में किया बर्तनों को शामिल, जाने पूरी ख़बर!

हरियाणा के हिसार शहर की दसवीं कक्षा की छात्रा पेंसी आइसक्रीम खाने की शौकीन हैं।

लजीज खाने के साथ महंगे और बेहतरीन बर्तनों में परोसदारी के किस्से तो आपने काफी सुने होंगे, लेकिन हिसार की एक छात्रा ने जायके के सफर में बर्तनों का स्वाद भी शामिल कर दिया है।

यानी अब आप पार्टी में शिरकत कर खाने के साथ बर्तनों को भी खा सकते हाै। हरियाणा के हिसार शहर की दसवीं कक्षा की छात्रा पेंसी आइसक्रीम खाने की शौकीन हैं।

अपनी सहपाठी साक्षी अग्रवाल के साथ आइसक्रीम खाते हुए पेंसी ने इस आइडिया पर काम किया कि जब कोन में आइसक्रीम खाकर कोन को भी खा सकते हैं तो क्यों न ईटेबल बर्तन बनाए जाएं जिसमें मनचाहे व्यंजनों का स्वाद चखने के बाद बर्तन भी खा लिए जाएं।

पेंसी ने सोचा इसके दो फायदे होंगे पार्टियों के बाद आसपास के क्षेत्र में गंदगी भी नहीं दिखेगी, पौष्टिक भोजन भी मिल जाएगा।

बस इसी सोच ने पेंसी को इनोवेटर बना दिया। पेंसी ने साक्षी के साथ मिलकर ईटेबल प्लेट और चम्मच बना डाले। अपने इस प्रोजेक्ट को उन्होंने इंडियन साइंस कांग्रेस के लिए भेजा तो चयन कर लिया गया।

परिणामस्वरूप वे इन दिनों इंडियन साइंस कांग्रेस में लगी प्रदशर्नी में अपने ईटेबल बर्तनों के साथ यहां आने वाले हर किसी को आकर्षित कर रही हैं।

पेंसी बताती हैं कि चावल, गेहूं व ज्वार से तैयार ईटेबल (खाने योग्य) बर्तनों का छह महीने तक इनका कुछ खराब नहीं होता है।

इन बर्तनों में गर्मागर्म सब्जियां, रायता, सूप, चाय, कॉफी सब कुछ परोसा जा सकता है। पौष्टिक बनाने के लिए ईटेबल वर्तनों में पेंसी ने हल्के मसालों का प्रयोग किया है,

वहीं ईटेबल बर्तनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए चॉकलेट का भी टेस्ट दिया है, ताकि टेस्ट के अनुसार लोग इसे प्रयोग कर सकें।

ये है पेंसी के तर्क

सर्वे व सीनियर्स की मदद से जो आंकडे पेंसी ने एकत्रित किए हैं उसके अनुसार ईटेबल बर्तनों का प्रयोग करके
1000 लोगों की पार्टी के बर्तनों को धोने के लिए प्रयोग होने वाला 4 से 5 हजार लीटर पानी बचाया जा सकता है। 20-25 लीटर तक बर्तन धोने वाले लिक्विड की बचत होगी।

इसके अलावा 2500 डिस्पोजेवल प्लेट व ग्लास का प्रयोग होने से बचेगा और कचरा भी नहीं होगा। पेंसी बताती हैं कि हरियाणा के शहर हिसार के विद्या देवी जिंदल स्कूल की वे छात्रा हैं,

स्कूल में होने वाला पार्टियों में ईटेबल बर्तनों का प्रयोग किया जा रहा है जो लोगों को खूब पसंद आ रहा है। ईटेबल बर्तन बनाने का काम तमाम लोगों को रोजगार भी दे सकता है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
हिसार की छात्रा ने जायके के सफर में किया बर्तनों को शामिल, जाने पूरी ख़बर!
Author Rating
51star1star1star1star1star
congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags