हॉकी इंडिया ने किया खराब प्रदर्शन, कोच हरेंद्र को भुगतना पड़ा खामियाजा

सीनियर पुरुष टीम के लिए साल 2018 बहुत खराब रहा है और परिणाम उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहे।

साल 2018 में टीम के खराब प्रदर्शन के बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह को बुधवार को पद से हटा दिया गया है। हॉकी इंडिया ने हरेंद्र को जूनियर टीम को संभालने की जिम्मेदारी दी गई है।

भारतीय हॉकी में हटाना और निरंतर कोचों के बदलाव की बात आम है और हरेंद्र उसका ताजा शिकार बनें हैं। हरेंद्र को पिछले साल मई में सीनियर टीम की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

हॉकी इंडिया ने हरेंद्र को हटाने के पीछे कारण बताते हुए कहा, हालांकि सीनियर पुरुष टीम के लिए साल 2018 बहुत खराब रहा है और परिणाम उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहे।

हॉकी इंडिया का मानना है कि जूनियर प्रोग्राम में उनका उपयोग करेंगे। जूनियर विश्व कप विजेता टीम के कोच रहे हरेंद्र ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में टीम के खराब प्रदर्शन के बाद जिम्मा सौंपा गया था लेकिन वह भी टीम की किस्मत नहीं बदल सके।

भारतीय टीम ने इंडोनेशिया में एशियन गेम्स में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। साथ ही भुवनेश्वर में विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में हार मिली है।

हॉकी इंडिया के वक्तव्य में कहा, हॉकी इंडिया जल्द ही मुख्य कोच के लिए आवेदन मांगेगा। टीम फरवरी 2019 में फिर प्रशिक्षण के लिए लौटेगी।

वह 23 मार्च से शुरू होने वाले सुल्तान अजलान शाह टूर्नामेंट में हिस्सा लेगी। अंतरिम तौर पर हाई परफॉर्मेंस निदेशक डेविड जॉन और एनालेटिकल कोच क्रिस सिरिएलो टीम की देखरेख करेंगे।

 

1
Back to top button