राष्ट्रीय

जेल में हनीप्रीत की पहली दिवाली, पहुंचा परिवार, दिए ये गिफ्ट्स

अंबाला: राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत अंबाला सेंट्रल जेल की सेल नंबर 11 में है। गत दिवस हनीप्रीत को पहली बार मिलने उसका परिवार जेल पहुंचा। परिवार हनीप्रीत के लिए मिठाई और मोमबत्ती लेकर पहुंचे। हनीप्रीत का परिवार जेल में करीब 45 मिनट तक रहा अौर उन्होंने उसे जल्द रिहाई का भरोसा दिलाया। इस दौरान परिवार वालों ने उसे कपड़े भी दिए।

हालांकि हनीप्रीत से मिलने की किसी को भी इजाजत नहीं है लेकिन उसका परिवार उससे मिलने के लिए जेल आए थे। इससे पहले उन्होंने डीजीपी जेल केपी सिंह से परमिशन ली। फिर वह अंबाला एसपी अभिषेक जोरवाल के पास पहुंचे। यहां से बलदेव नगर एसएचओ रजनीश कुमार यादव की परिवार के साथ ड्यूटी लगाई गई। बुधवार को करीब साढ़े चार बजे हनीप्रीत के पिता रामानंद तनेजा, माता आशा तनेजा, भाई साहिल तनेजा, भाभी सोनाली और कजन भाई सिद्धार्थ सिंगला सेंट्रल जेल पहुंचे। करीब 45 मिनट तक परिवार ने हनीप्रीत के साथ दुख दर्द सांझा किया साथ ही उसे किसी भी तरह की टेंशन न लेने की बात कही, साथ ही उसे मेंटली तौर पर भी इस मुसीबत से बाहर निकालने की कोशिश की।

पुलिस ने हनीप्रीत के परिवार वालों की वेरिफिकेशन की। इसके अलावा उनके आई कार्ड भी कब्जे में लिए। सुरक्षा से जुड़ी तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद उसे मुलाकात की इजाजत दी गई। पता चला है कि हनीप्रीत का परिवार एक वीआईपी कार से जेल पहुंचा। यह कार भी सिरसा की बताई जा रही है। जिसकी पुलिस ने पूरी डिटेल भी हासिल की है। इसी केस में हनीप्रीत के साथ सुखदीप भी अंबाला सेंट्रल जेल में बंदी रखी गई है। मगर दीवाली के मौके पर उससे मिलने कोई नहीं आया। जबकि वह दिनभर अपने घरवालों के आने का इंतजार करती रही।

Summary
Review Date
Reviewed Item
जेल में हनीप्रीत की पहली दिवाली, पहुंचा परिवार, दिए ये गिफ्ट्स
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.