सदन ने बनाया नया रिकॉर्ड, आधी रात तक चली लोकसभा की कार्यवाही

रेलवे की अनुदान मांगों पर चर्चा हुई, 12 बजने के 2 मिनट पहले बंद हुआ सदन

नई दिल्ली: लोकसभा में कल 18 साल में पहली बार एक अनोखा रिकॉर्ड बना। सदन की कार्यवाही रात 12 तक चली जिसमे रेलवे के अनुदानों पर चर्चा हुई। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने जानकारी देते हुए बताया की ऐसा इसलिए हुआ क्योकि हर सदस्य इसका हिस्सा बनना चाहता था।

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने शुक्रवार को कहा कि चर्चा आधी रात तक चली क्योंकि हर सदस्य इसका हिस्सा बनना चाहता था। जोशी ने कहा कि लगभग 18 वर्षों में यह पहली बार था जब निचले सदन की कार्यवाही इतने लंबे समय तक चली।

उन्होंने कहा कि 100 से अधिक सदस्यों ने चर्चा में भाग लिया और यह एक रिकॉर्ड था। बहस के दौरान,विपक्ष ने आरोप लगाया कि केंद्र रेलवे को विकसित करने के बजाए उसकी संपत्ति को बेच रही है जबकि सरकार ने तर्क दिया कि यूपीए सरकार के समय अपेक्षाकृत पूंजीगत व्यय दोगुना हो गया था।

वहीं राज्यसभा में भी गुरुवार को बजट पर रात 9 बजे तक चर्चा हुई थी। उच्च सदन के दो दिन कर्नाटक के सियासी संकट की वजह से हुए हंगामे के कारण बगैर चर्चा के निकल गए जिसके बाद सभापति की पहल से सदन में देर रात तक चर्चा हो पाई। आम तौर पर संसद की कार्यवाही सुबह 11 बजे से शुरू होकर शाम 6 बजे तक चलती है लेकिन विशेष परिस्थितियों में कार्यवाही को सदस्यों की सहमति के बाद बढ़ाया जाता है।

Back to top button