आवास घोटाले में एक और पूर्व केंद्रीय मंत्री बरी, 21 साल से चल रहा था मुकदमा

आवास घोटाले में एक और पूर्व केंद्रीय मंत्री बरी, 21 साल से चल रहा था मुकदमा

नई दिल्ली: सरकारी आवास आवंटन से जुड़े भ्रष्टाचार के एक मामले में 21 साल से मुकदमे का सामना कर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री पी के थुंगन को यहां एक विशेष अदालत ने बरी कर दिया है. अदालत ने कहा कि सीबीआई यह साबित करने में नाकाम रही कि थुंगन ने अपने आधिकारिक पद का दुरूपयोग किया. अदालत ने थुंगन (71) के अलावा 14 अन्य को भी बरी किया, जिसमें कई सरकारी अधिकारी शामिल हैं.

वहीं, मुकदमा चलने के दौरान तीन आरोपियों की मौत हो गई. विशेष सीबीआई जज कामिनी लाऊ ने कहा कि अभियोजन थुंगन पर लगे आरोप को साबित नहीं कर सका. गौरतलब है कि उन पर आरोप था कि उन्होंने शहरी विकास राज्य मंत्री रहने के दौरान अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया.

मुकदमे के दौरान अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री थुंगन ने दावा किया कि वह बेकसूर हैं और उन्हें बदले की राजनीति के चलते फंसाया गया है. उन्होंने यह भी दावा किया कि उन्होंने अपने कर्तव्य निभाते हुए किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया.

advt
Back to top button