इलेक्ट्रॉनिक मशीन में वोट कैसे डालें

रायपुर : रायपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में 23 अप्रैल को 21.11 लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। मतदाता इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के माध्यम से अपना वोट डालेंगे। भारत निर्वाचन आयोग व्दारा ईवीएम के माध्यम से मतदान करना काफी आसान है। इसके माध्यम से वोट डालने में काफी कम समय लगता है और वोट भी पूर्णतः गोपनीय और सुरक्षित रहता है। इसमें कोई वोट निरस्त नहीं होता।

ईवीएम के साथ एक वीवीपैट मशीन भी लगी होती है। जैसे ही मतदाता ईवीएम के बैलेट यूनिट में अपनी पसंद के उम्मीदवार के नाम के चिन्ह के समक्ष नीला बटन दबाता है तो मशीन में लाल बत्ती जलती है और सीटी की आवाज पीई………..! आती है। इसके बाद वीवीपैट मशीन की स्क्रीन में मतदाता ने जिस उम्मीदवार को अपना वोट दिया है उसकी पर्ची दिखाई देती है जिसका मतलब है कि मतदाता ने जिस प्रत्याशी को बटन दबा कर अपना वोट दिया है उसी प्रत्याशी को वोट पड़ गया है।

मतदान की प्रक्रिया

जैसे ही मतदाता अपनी मतदाता पर्ची व फोटो पहचान पत्र लेकर मतदान केन्द में प्रवेश करता है उसकी मुलाकात प्रथम मतदान अधिकारी से होगी। मतदाता उसे अपनी मतदाता पर्ची व फोटो पहचान पत्र दिखाएगा। मतदाता की पहचान सुनिश्चित होने के बाद अधिकारी मतदाता को दूसरे मतदान अधिकारी के पास भेजेगा। दूसरा मतदान अधिकारी मतदाता की तर्जनी उंगुली में अमिट स्याही का निशान लगाएगा और एक पर्ची देते हुए रजिस्टर में हस्ताक्षर कराएगा।

इसके बाद मतदाता तीसरे मतदान अधिकारी के पास जाएगा और उसे अपनी अंगुली में लगी हुई अमिट स्याही दिखाएगा और फिर अनुमति मिलने पर मतदाता मतदान कक्ष में जाएगा जहां ईवीएम और वीवीपैट मशीन एक कम्पार्टमेंट में रखी होगी। मतदान कक्ष में मतदाता अपनी पसंद के उम्मीदवार के नाम और चिन्ह के समक्ष नीले रंग का बटन दबाएगा।

इसके बाद लाल रंग की बत्ती जलेगी और एक बीप यानि सीटी की आवाज पीई……! सुनाई देगी और वीवीपैट मशीन में मतदाता ने जिस प्रत्याशी को बटन दबा कर वोट दिया उसके नाम व चुनाव चिन्ह वाली एक पर्ची 7 सेकेंड के लिए दिखाई देगी जो उसी वीवीपैट मशीन के अंदर गिर जाएगी। यदि मतदाता किसी भी प्रत्याशी को अपना वोट देना नहीं चाहता है तो वह सारे प्रत्याशियों के बाद आखिरी में नोटा के बटन को दबा कर अपना वोट दे सकता है। नोटा का अर्थ है इनमें से किसी को नहीं।

क्या है ईवीएम और वीवीपैटमतदान की मशीन जिस पर सभी उम्मीदवार के नाम, चुनाव चिन्ह एवं फोटोग्राफ एक बड़े मतपत्र की तरह दिए हुए हैं। प्रत्येक उम्मीदवार के सामने एक तीर का निशान और एक नीला बटन दिया गया है।

मतदाता अपने पसंद के उम्मीदवार के नाम के सामने नीले बटन को दबा कर अपना वोट देगा। नीले बटन को दबाने पर तीर के निशान पर लाल बत्ती जलेगी, तब वीवीपैट मशीन से एक पेपर स्लिप 7 सेकेंड तक मतदाता के उम्मीदवार का सरल क्रमांक, नाम व चुनाव चिन्ह दिखाई देगा एवं बीप (सीटी) की लंबी आवाज आएगी। इस सीटी का मतलब है कि मतदाता ने ठीक ढंग से अपना वोट दे दिया है।

इसके बाद मतदाता को मतदान कक्ष से बाहर आना होगा। यदि नीला बटन दबाने के बाद लाल बत्ती नहीं जलती है तो मतदाता को नीला बटन पुनः ठीक से दबाना चाहिए। यदि नीला बटन ठीक से नहीं दबता लाल बत्ती नहीं जलती और सीटी की आवाज नहीं आती है तो मतदाता को मतदान बूथ के पीठासीन अधिकारी से संपर्क कर बताना चाहिए। वह इसका निराकरण करेंगे। ईवीएम मशीन व्दारा किया गया मतदान पूर्णतः गोपनीय तथा सुरक्षित है।

Back to top button