हमर स्वास्थ्य मोबाइल ऐप लांच

राजनांदगांव । जिले में प्रत्येक ग्राम पंचायत में हेल्थ कैंप लगाए जा रहे हैं। इनमें अब तक 35 हजार से अधिक लोगों ने अपना स्वास्थ्य परीक्षण करा लिया है। इन सभी को हेल्थ कार्ड दिया गया है इसमें इनकी मेडिकल हिस्ट्री दर्ज की गई है।

भविष्य में किसी तरह के मेडिकल परीक्षण होने पर यह हेल्थ कार्ड चिकित्सकों के लिए उपयोगी साबित होगा। चिकित्सकों तथा स्वास्थ्यकर्मियों के पास त्वरित रूप से इनके हेल्थ कार्ड को उपलब्ध कराने की मंशा से जिला प्रशासन ने हमर स्वास्थ्य मोबाइल ऐप लांच किया।

कलेक्टर भीम सिंह ने सभी स्वास्थ्य अमले को इस ऐप को डाउनलोड करने निर्देशित किया। इससे वे केवल मरीज का नाम और गाँव जानकर उसकी मेडिकल हिस्ट्री के संबंध में जान सकते हैं। कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों में लग रहे हेल्थ कैंप के उपयोग के संबंध में भी समीक्षा की।

सीएमएचओ डॉ. मिथिलेश चौधरी ने बताया कि कैंसर और हृदय रोग जैसे प्रकरणों को भी चिन्हांकित करने में इससे आसानी हुई है। कैंसर के सात प्रकरण तथा गंभीर हृदय रोग के चौदह प्रकरणों को चिन्हांकित किया गया है। इसे संजीवनी प्रकरण बनाकर इलाज के लिए प्रेषित किया गया है।

कलेक्टर ने कहा कि मेडिकल कैंप बेहद उपयोगी हैं और जिन स्थलों में इसे लगाया जाना है उसकी पहले दिन मुनादी कराई जाए।

कलेक्टर ने स्मार्ट कार्ड के संबंध में भी विशेष समीक्षा की। उन्होंने कहा कि स्मार्ट कार्ड बनने आरंभ हो रहे हैं। स्वास्थ्य अमला यह सुनिश्चित करें कि शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त हो सके।

उन्होंने कहा कि लोगों को स्मार्ट कार्ड के संबंध में जागरूक करना भी लक्ष्य है ताकि इसका अधिकाधिक उपयोग कर सकें।

उन्होंने कहा कि अंदरूनी क्षेत्रों में स्मार्ट कार्ड का उपयोग कम हो रहा है इसके लिए व्यापक अभियान कर काम करें। उन्होंने कहा कि सभी सीएचसी और पीएचसी को अपग्रेड करना है तथा इन्हें फाइव स्टार रेटिंग दिलाने का लक्ष्य लेकर कार्य करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि ऐसे स्थलों को चिन्हांकित करें जहाँ 102 वाहन की सर्वाधिक जरूरत है ताकि इन क्षेत्रों के लिए इसे उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने कहा कि टीकाकरण भी बहुत महत्वपूर्ण है। स्वास्थ्य अमला यह प्राथमिकता तय करे कि शतप्रतिशत बच्चों का टीकाकरण हो।

new jindal advt tree advt
Back to top button