चिटफंड कंपनियों के सैकड़ों अभिकर्ता व उपभोक्ताओं ने निकाली रैली

इन नेताओं पर लगा मिलीभगत का आरोप

रायपुर: छत्तीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता संघ के बैनर तले चिटफंड कंपनियों के सैकड़ों अभिकर्ताओ और उपभोक्ताओं ने शहर में रैली निकालकर चिटफंड कम्पनी में फंसे निवेशकों के पैसों को वापस कराए जाने के लिए कोतवाली थाना प्रभारी को मामले दर्ज करने के लिए ज्ञापन सौंपा है।

उनका आरोप है कि पूर्व सीएम रमन सिंह, मंत्री धर्म लाल कौशिक, रामसेवक पैकरा सहित अन्य के द्वारा जानबूझकर सुनियोजित तरीके से आपराधिक षड्यंत्र कर पद का दुरुपयोग करते हुए पदीय कर्तव्य के विपरीत जाकर अवैध ढंग से प्रतिबंधित चिटफंड कंपनियों के माध्यम से हजारों करोड़ों रुपए का परिचालन करने में सहयोग समिति व संरक्षण प्रदान किया गया है।

इतना ही नहीं रमन सिंह, धर्म लाल कौशिक, रामसेवक पैकरा सहित अन्य के द्वारा छत्तीसगढ़ शासन के प्रभाव का प्रयोग करते हुए प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मिलीभगत और सांठगांठ करते हुए प्रतिबंधित कंपनियों को जिले में स्थापित कर कार्य करने एवं पीड़ितों और शिकायत कर्ताओं से रकम निवेश करने हेतु प्रोत्साहन और प्रलोभन दिया गया।

इनके द्वारा छत्तीसगढ़ शासन के मंच रोजगार मेले का दुरुपयोग करते हुए छत्तीसगढ़ में लाखों लोगों को चल पूर्वक इन प्रतिबंधित कंपनियों में पीड़ित एवं शिकायतकर्ताओं को नियुक्ति देकर पैसे निवेश कराकर कंपनियों और स्वयं को लाभ पहुंचाया गया है।

इन बिंदुओं के साथ अन्य 9 बिंदुओं पर कई आरोप लगाते हुए रमन सिंह, धर्म लाल कौशिक, रामसेवक पैकरा व अभिषेक सिंह सहित अन्य के विरुद्ध धोखाधड़ी सहित अपराध दर्ज करने की मांग की गई है।

Back to top button