विश्व योग दिवस के अवसर पर नर्सिंग कालेज के सैकड़ों छात्रों ने किया योग

21 जून 2015 को " अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस" घोषित किया गया था

बालोद : भारत इंस्टिट्यूट आफ नर्सिंग एवं मारुती इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग कालेज दानीटोला में आज चतुर्थ अंतर्राष्ट्रीय योग के अवसर पर नर्सिंग कालेज दानिटोला जिला बालोद में पतंजलि योग पीठ के आचार्य गैंद सिंह देशमुख,

छत्रपाल एवं प्रीतम देशमुख ने सूक्ष्म व्ययाम एवं आसन जैसे ताड़ासन, पादहस्तासन, अर्धचक्रासन, त्रिकोणासन,भद्रासन, बज्रासन एव्म भस्त्रिका, कपालभांति, अनुलोमविलोम आदि प्राणायाम का अभ्यास कराया एवं होने वाले लाभ बताया

इस कार्य क्रम में मुख्य रूप से-भारत कालेज के प्राचार्य मि.डैनियल दीपक मसीह एवं मारती कालेज के प्राचार्य श्रीमति सिजो कोसी मैडम एवं समस्त स्टाप के रूप में गौरव कोल्विन, किशोर सुपेत,लाला राम साहू,मुकेश देशमुख,

हरी लहरे,धीरेशचंद साहू,मिथलेश साहू श्रीमती अनामिका कोल्विन ममता राणा कु.जानकी देशमुख माधुरी मेश्राम रेनू साहू अनुपमा ख़लको कुसुमलता साहू रजनी देवांगन मुक्ता मिंज कु.हिना शशि प्रीति डेविड रंजना एव प्राथमिक शाला दानीटोला के समस्त स्टाप सम्मलित थे अतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जाता है।

यह दिन वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है। पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी

21 जून 2015 को ” अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” घोषित किया गया

“योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है; मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है; विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य और भलाई के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है।

यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। तो आयें एक अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को गोद लेने की दिशा में काम करते हैं।” जिसके बाद 21 जून को ” अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” घोषित किया गया।

Back to top button