राष्ट्रीय

मोक्ष प्राप्ति के लिए पति ने लगाया मंदिर परिसर में फांसी

बावल थाने में मुकदमा दर्ज

नई दिल्ली। मोक्ष प्राप्ति के लिए जान देने का एक मामला सामने आया है। भैरामपुर भड़ंगी निवासी ने 30 जुलाई को मंदिर में पेड़ पर फांसी लगाकर जान दे दी। करीब आठ दिन बाद उसकी पत्नी ने दिल्ली के एक तांत्रिक व उसकी पत्नी पर पति को मोक्ष की खातिर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाते हुए बावल थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

जान गंवाने वाला दिल्ली पुलिस का जवान

बुधवार को पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल से शिकायत करते हुए पुलिसकर्मी की पत्नी शकुंतला ने कहा कि वर्ष 2009 में उसके पति कर्मबीर विवेक विहार थाने में तैनात थे। इसी दौरान उनकी तांत्रिक उदय सिंह से मुलाकात हुई। उदय दो-तीन बार उनके घर भी आ चुका था।

तांत्रिक पर कर्मकांड करने का शक

उदय ने कहा कि उसके घर पर भूत-प्रेत का साया है तथा इसका समाधान कर देगा। इस बहाने वह वह वसूली करने लगा। कई बार उसके पति का उदय से झगड़ा भी हुआ, तब उदय ने धमकी दी थी कि वह उस पर भूत-प्रेत छोड़ देगा, जिससे पति डरे सहमे रहने लगे। कुछ दिन बाद उदय ने कर्मवीर की मुलाकात अपनी पत्नी साधना से कराई और फिर दोनों पति-पत्नी ने कर्मबीर को अपने जाल में फंसा लिया।

आरोप है कि कर्मबीर को उदय व साधना मोक्ष के लिए उकसा रहे थे। 30 जुलाई को कर्मबीर ने घर पर आकर कहा था कि उसके गुरु उदय व साधना मोक्ष प्राप्ति के लिए बार-बार कह रहे हैं। वह मोक्ष प्राप्ति के लिए जा रहा है तथा बच्चों का वह अपने आप ख्याल रखे।

तांत्रिक का ये था प्लान

शकुंतला का कहना है कि उसके पति छुट्टी वाले दिन भी तांत्रिक उदय के जाल में ही उलझे रहते थे। तांत्रिक उदय व उसकी पत्नी बुराड़ी कांड की तरफ उनके पूरे परिवार को मरवाने की तैयारी कर चुके थे, आरोप है कि उदय के चंगुल में अभी कई लोग और भी हैं।

Summary
Review Date
Reviewed Item
मोक्ष प्राप्ति के लिए पति ने लगाया मंदिर परिसर में फांसी
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
jindal