साइरस मिस्त्री ने पत्नी को बताया था ‘मुझे नौकरी से हटाया जा रहा है’

साइरस मिस्त्री के एक सहकर्मी के ब्लॉग ने एक बार फिर उन्हें चर्चा में ला दिया है. ब्लॉग में बताया गया है कि कंपनी मिस्त्री को हटाए जाने के मामले को और बेहतर ढंग से हैंडल कर सकती थी. उस वक्त साइरस ने एक मैसेज अपनी पत्नी रोहिका को किया था. मैसेज में उन्होंने लिखा ‘मुझे नौकरी से निकाला जा रहा है.’

24 अक्टूबर, 2016 के दिन उन्हें दोपहर 2 बजे मीटिंग अटेंड करनी थी. उन्हें यह जानकारी दी गई थी कि उन्हें टाटा संस की बोर्ड मीटिंग में नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाएगा.

मिस्त्री के अंडर काम करने वाले ग्रुप एग्जिक्युटिव काउंसिल के पूर्व मेंबर निर्मलय कुमार ने अपने ब्लॉग में शनिवार को इसे विस्तार से लिखा है. निर्मलय कुमार को भी उसी दिन मिस्त्री के साथ बर्खास्त कर दिया गया था.

निर्मलय ने लिखा है, ‘सार्वजनिक तौर पर मिस्त्री को अपमानित करना और फिर उसके बाद जो कुछ हुआ उसे टाला जा सकता था. उन्होंने कहा कि मिस्त्री का अनुबंध (कॉन्ट्रैक्ट) 31 मार्च, 2017 को खत्म होना था.

टाटा ग्रुप ने साइरस को हटाने का वाजिब कारण नहीं बताया

साइरस मिस्त्री को इस तरह अचानक निकालने के बजाय बोर्ड चाहता तो सिर्फ 5 महीने का इंतजार कर सकता था. यह बात इसलिए भी असामान्य थी कि टाटा ग्रुप के 148 साल के इतिहास में सिर्फ 6 चेयरमैन रहे हैं.

निर्मलय कुमार इस समय सिंगापुर मैनेजमेंट यूनिवर्सिटी में मार्केटिंग के प्रोफेसर हैं. उन्होंने कहा कि टाटा ग्रुप ने आज तक मिस्त्री को हटाए जाने का वाजिब कारण नहीं बताया है.

निर्मलय ने कहा कि अपनी ‘हायर ऐंड फायर’ पॉलिसी के लिए जाने जाने वाले टाटा ग्रुप ने मिस्त्री का चयन बहुत ही सावधानी से किया था. चयन की प्रक्रिया एक साल से ज्यादा चली थी.

1
Back to top button