अरपा नदी में अवैध उत्खनन के लिए अकेले मैं जिम्मेदार नहीं -राजेश मालवे

अंकित मिंज :

बिलासपुर। खनिज विभाग के अधिकारी राजेश मालवे अरपा नदी से अवैध रेत उत्खनन पर रोक नहीं लगा पाने से जुड़े सवाल पर भड़क गए। उनका कहना है कि वे अकेले अवैध उत्खनन पर रोक नहीं लगा सकते। इसके लिए समिति गठित की गई है।

जिसमें खनिज विभाग के साथ एसडीएम, तहसीलदार, सीईओ, सरपंच, सचिव शामिल हैं ये लोग कभी अवैध उत्खनन पर रोक लगाने के लिए ध्यान नहीं देते हैं। नदी में अवैध उत्खनन हो रहा है इसके लिए अकेले मैं जिम्मेदार नहीं हूं।

मुझे इससे कोई मतलब भी नहीं है। इसमें मैं कुछ नहीं कर सकता हूं। यह गैर जिम्मेदाराना बयान खनिज विभाग के अधिकारी राजेश मालवे का है। बुधवार को दोपहर एक बजे के लगभग पत्रिका की ओर से राजेश मालवे से सवाल किया गया कि नदी में अवैध रुप से रेत उत्खनन हो रहा है।

इस पर रोक क्यों नहीं लगाई जा रही है घ् तब राजेश मालवे बिना रुके गैर जिम्मेदाराना बात करने लगे। मालवे ने कहा नदी में रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है। मुझे शिकायत मिलती है, तब कार्रवाई के लिए भेजता हूं।

अवैध रेत निकालने वालों पर कार्रवाई करना इतना आसान नहीं है, हम ही जानते हैं कि कितनी मुश्किल से कार्रवाई कर पाते हैं। पहुंच वालों के खिलाफ कार्रवाई करना इतना आसान नहीं है।

पूरी रायल्टी सरपंच व सचिव वसूली करते हैं, इससे हमें एक रुपए फायदा नहीं होता है। अवैध खनन हो रहा है तो मैं क्या कर सकता हंू कम स्टाफ में कैसे काम कर रहा हूं यह तो मैं ही जानता हूं।

सिर्फ ट्रैक्टर को पकड़े पोकलेन और डम्पर को छोड़ दिए

खनिज विभाग के रिकार्ड अनुसार 8 जगहों पर अवैध रूप से रेत की निकासी हो रहा था। तीन दिन में बड़ी मुश्किल से 21 ट्रैक्टर ट्राली वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई लेकिन एक भी डम्पर वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है।

वहीं नदी के अन्दर पोकलेन के खिलाफ भी कोई कार्रवाही नहीं की गई है। 21 ट्रैक्टर वालों को 5000 हजार रुपए के हिसाब से 1 लाख 5000 हजार रुपए का पेनाल्टी की गयी है।

रसूखदारों की गाडिय़ां छोड़ी

नदी से रेत उत्खनन करने वाले रसूखदारों की गाडिय़ां छोड़ दी गई है। एक भी डम्पर और पोकलेन पर कार्रवाई नहीं की गई है। जबकि पिछले तीन दिन तक पोकलेन नदी के बीच में रेत निकालने का काम कर रहा था।

अवैध उत्खनन पर रोक लगाई जाएगी। जिम्मेदारों के उपर कार्रवाही भी होगी।

डॉ. संजय अलंग, कलेक्टर

new jindal advt tree advt
Back to top button