मध्यप्रदेश

मैं दावे के साथ कह रहा हूं 28 सीटें जीतेंगे, दुख है.महिलाओं को वोट डालने नहीं दिया-दिग्विजय सिंह

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज कई अहम मुद्दों पर अपनी बात रखते हुए सभी 28 सीटों में जीत का दावा किया है।

भोपाल। वोटिंग खत्म होने के बाद अब सभी को परिणाम का इंतजार है। वहीं बीजेपी और कांग्रेस अपने-अपने जीत के दावे कर रहे हैं। इसी क्रम में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज कई अहम मुद्दों पर अपनी बात रखते हुए सभी 28 सीटों में जीत का दावा किया है।

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह का बयान

हमने कल वोटिंग की समीक्षा की थी, हम सभी सीटों में पीछे नहीं है। प्रलोभन देने के बाद भी जनता बीजेपी के प्रति प्रभावित नहीं हुई। हमने चुनाव आयोग को संवेदनशील बूथों की सूची दी थी। विशेषकर सुमावली, मेहगांव में मतदान प्रभावित करने की जानकारी दी थी, और मतदान के दिन वहीं हुआ। यहां महिलाओं को वोट डालने नहीं दिया। मुझे दुख है कि चुनाव आयोग ने इस सूची पर एक्शन नहीं लिया।

हमने रीपोलिंग की मांग भी की थी। हमारी शिकायत पर ध्यान देते तो यह घटना नहीं होती। केंद्रीय चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक इस पर नियंत्रण नहीं कर पाए। प्रशासन जिम्मेदार है, उन जिम्मेदारों को गिरफ्तार करना चाहिए और कार्रवाई करना चाहिए।

हम पूरे 28 सीटे जीतेंगे

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं दावे के साथ कह रहा हूं कि 28 सीटें जीतेंगे। वीडी शर्मा कृषि के स्नातक हैं, जिसमें कैलकुलेशन में गलती हो जाती है। मोहन भागवत के भोपाल दौरे को लेकर दिग्गी ने तंज कसा कहा कि मोहन भागवत का भोपाल और इंदौर में कुछ वर्षों में ज्यादा आना जाना हो रहा है। संघ चाल चरित्र चेहरा की बात करता है। संघ की एक पीढ़ी चली गई। आरआरएस भागवत से अनुरोध करते हुए दिग्विजय ने कहा कि अपने प्रचारक पर ध्यान दें। अर्जुन की मूर्ति का तत्काल अनावरण होना चाहिए जो प्रयास होगा हम करेंगे।

आरिफ मसूद पर अतिक्रमण की कार्रवाई पर दिग्गी ने कहा कि बीजेपी शक्ल देख कर काम करती है, जो स्थानीय विधायक रामेश्वर शर्मा उन्होंने कितनी सरकारी जमीन पर कब्जा किया उसकी जांच की है क्या। जिन मंत्रियों ने अतिक्रमण किया उन पर कार्रवाई की क्या? इस दौरान दिग्विजय ने लव जेहाद पर सरकार द्वारा बनाएजा रहे नए कानून को लेकर दिग्गी ने बयान दिया। कहा कि लव जेहाद कानून बनाना बहुत सही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button