शिवराज सिंह चौहान को कांग्रेस कार्यकर्ता भेज रहे आई-ड्रॉप

भोपाल : मध्य प्रदेश में कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा नेता एवं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आई-ड्रॉप, च्यवनप्राश और बादाम भेज रहे हैं। उनका कहना है कि उन्होंने किसानों की कर्ज माफी एवं जनकल्याण को लेकर राज्य सरकार के अन्य फैसलों पर झूठ बोला है। हम चाहते हैं शिवराज सिंह चौहान को सच्चाई पता चले लेकिन क्या करें, उनकी आंखें और यादाश्त दोनों ही कमजोर हो गई है। यही कारण है कि हम उन्हें आई-ड्रॉप, च्यवनप्राश और बादाम भेज रहे हैं।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ-साथ सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने भाषणों में कांग्रेस की कर्जमाफी का जिक्र करके प्रदेश की कमलनाथ सरकार को घेर रहे हैं। शिवराज किसानों की कर्जमाफी को छलावा बता रहे हैं। उन्होंने कहा है कि राहुल गांधी ने 10 दिन में सभी किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था, लेकिन अभी भी सभी किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ है।

इसके विरोध में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आवास पर पहुंचकर उन्हें उन 21 लाख किसानों की सूची सौंपी, जिनका कर्ज माफ करने का दावा राज्य की कमलनाथ सरकार कर रही है। कांग्रेस नेता ने दावा किया कि ‘जय जवान-जय किसान ऋण माफी’ योजना के तहत कुल 55 लाख किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ होना है।

इसके बाद मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया कि कर्जमाफी के नाम पर उसने किसानों को केवल झुनझुना पकड़ाया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी सहित कांग्रेस पदाधिकारियों ने उन्हें कर्जमाफी की जो सूची सौंपी है, वह झूठ का पुलिंदा है। किसानों का कर्ज 48 हजार करोड़ रुपए का है जबकि सरकार ने केवल 1300 करोड़ रुपए बैंकों को दिए हैं। कांग्रेसियों ने जो सूची सौंपी है, वह कृषि विभाग की है न कि बैंक का अनापत्ति प्रमाण पत्र।

इससे इतर भाजपा ने पिछले शनिवार को कमलनाथ सरकार के खिलाफ एक ‘आरोप पत्र’ (Charge Sheet) जारी किया था। इस ‘आरोप पत्र’ में कहा गया है कि राज्य सरकार ने जनता से किए गए वादों को पूरा नहीं किया है। 12 पन्नों की इस चार्जशीट में कांग्रेस के ‘अधूरे वादों’ को दर्शाया गया था। प्रदेश पार्टी कार्यालय में 12 पन्नों की जारी इस चार्जशीट में भाजपा ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस ने किसानों को कर्ज माफी के नाम पर धोखा दिया है।

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने भोपाल में राज्य की बदतर बिजली व्यवस्था के विरोध में बीते पांच मई को लालटेन मार्च भी निकाला था। शिवराज सिंह अपने समर्थकों के साथ कंधे पर लालटेन लेकर निकले थे। उन्होंने कहा था कि जबसे कांग्रेस सत्ता में आई है, बिजली चली गई है। दिग्विजय ने मध्य प्रदेश को अंधेरे के राज्य में बदल दिया था और वह समय फिर वापस आ रहा है। ‘लालटेन’ अंधकार के युग का प्रतीक है, इसीलिए हम यह मार्च निकाल रहे हैं।

Back to top button