मनोरंजन

एक अभिनेता के रूप में मेरे हाथ भरे हैं, अभी राजनीति की जगह कहीं नहीं: सोनू सूद

अभिनेता ने स्पष्ट कर दिया है कि उनकी राजनीति में प्रवेश करने की कोई योजना नहीं

नई दिल्ली: प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बनकर उभरे बॉलिवुड ऐक्टर सोनू सूद की मदद का सिलसिला जारी है. बस्ती के पैरामेडिकल छात्र ने जब उनसे मदद मांगी तो ऐक्टर ने छात्र की साल की पूरी फीस जमा कर दी. सोनू सूद ने बस्ती केस्टूडेंट से डॉक्टर बनने के बाद गरीबों के मुफ्त इलाज का वादा भी ले लिया है.

वहीँ राजनीति में प्रवेश करने की कोई योजना को लेकर उन्होंने कहा कि ‘एक अभिनेता के रूप में मेरे हाथ भरे हुए हैं. इसके अलावा मैं बहुत से चैरिटी का काम कर रहा हूं, जिसमें बहुत ध्यान और समय लगता है. इसलिए, अभी राजनीति की जगह कहीं नहीं है. बेशक, मुझे इसकी जानकारी नहीं है कि आज से 10 साल बाद नियति ने मेरे लिए क्या लिखा है.’

अभिनेता के मन में प्रवासियों के लिए परिवहन की व्यवस्था करने का विचार तब आया, जब वह लॉकडाउन के दौरान कुछ दिनों तक प्रवासियों को भोजन के पैकेट वितरित कर रहे थे. भोजन बांटने के दौरान वह बच्चों वाले एक परिवार से मिले,

जो 10 दिनों के लिए भोजन चाहते थे, क्योंकि वे सभी मूल निवास स्थान बेंगलुरु के लिए निकले हुए थे, तब सूद ने उन्हें बताया कि वह परिवहन के लिए अनुमति प्राप्त करने की कोशिश करेंगे, ताकि उन्हें चल कर इतनी दूर न जाना पड़े.

हर दिन सैकड़ो लोगों को अपने घरों तक वापस भेजने की व्यवस्था करने में कामयाब रहे सोनू ने कहा, ‘मैं उस समय 350 लोगों को भेजने का प्रबंधन कर सकता था. वह ट्रिगर पॉइंट था. मुझे एहसास हुआ कि मैं और अधिक लोगों को वापस भेज सकता हूं, जो परिवहन के अभाव में पैदल चलने की योजना बना रहे थे. उसके बाद मैंने पीछे मुड़कर नहीं देखा.’

हालांकि जब वह इन महीनों में सामाजिक कार्यों में व्यस्त रहे हैं, स्क्रिप्ट्स उनकी टेबल पर जमा होती गई. और दिलचस्प बात यह है कि अब उन्हें जो भूमिकाएं दी जा रही हैं, वे उनकी उम्मीदों से अधिक हैं.

उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा, ‘हां, जिस तरह से लोग मुझे देखना और चित्रित करना चाहते हैं, उसे लेकर पूरी धारणा बदल गई है. मैं बदलाव देख सकता हूं और अब सही स्क्रिप्ट चुनने की आवश्यकता हैं और कुछ जादुई होने वाला है.’

हालांकि जब बात फिल्मों की आती है तो अभिनेता जल्दबाजी में नजर नहीं आते हैं. उन्होंने अपने निर्माताओं से कहा है कि वे उन्हें कुछ और समय दें, ताकि वह चैरिटी के काम पर ध्यान केंद्रित कर सकें.

उन्होंने कहा, ‘मेरा यकीन करें, जब मैं यह कहता हूं तो लोगों की मदद करने के लिए जिस तरह की असाधारण संतुष्टि मिलती है, वह उस व्यक्ति की तुलना में बहुत बड़ी होती है, जो 100 करोड़ की फिल्म का हिस्सा बन सकता है.’

उन्होंने कहा, ‘कुछ बेहद बेहतरीन काम किए जा रहे हैं. ‘कहानी’ में बिल्कुल नया अवतार दिया गया है. मुझे पूरी तरह से नई ²ष्टि उभरती दिखाई दे रही है. ये रोमांचक समय है और दर्शकों को मनोरंजन के पूरी तरह से नए रुपांतरण देखने को मिल रहे हैं.

जाहिर है, इसका मतलब यह भी है कि लेखकों, निर्देशकों और अभिनेताओं को अधिक काम मिल रहा है. मुझे खुशी है कि डिजिटल माध्यमों ने ऑडियो-विजुअल मनोरंजन को पूरी तरह से नया आयाम दिया है.’

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button