“मैं चाहता हूं कि अगर मेरे बेटे ने ऐसा किया है, तो उसे फांसी की सज़ा हो”: हैदराबाद महिला डॉक्टर रेप

हैदराबाद डॉक्टर मर्डर केस के चार अभियुक्तों में तीन एक ही गांव के हैं. ये गांव राजधानी हैदराबाद से क़रीब 160 किलोमीटर दूर है. चौथे अभियुक्त इसके पड़ोस में मौजूद एक गांव से हैं.
हालांकि इन परिवारों की पहचान अभी हम ज़ाहिर नहीं कर सकते क्योंकि अभियुक्तों का मामला अदालत में है और उन्हें दोषी नहीं ठहराया गया है.

पिछले कुछ दिनों में इस घटना के सुर्खियों के आने के बाद और उसके बाद अभियुक्तों को उनके गांवों से पुलिस के हिरासत में लेने के बाद से ही मीडिया से जुड़े लोग यहां आ रहे हैं. जब मैं इस गांव में पहुंची जहां से तीन अभियुक्तों को हिरासत में लिया गया है, तो गांव वालों ने ही मुझे उनमें से एक के घर का रास्ता बताया.

लेकिन गांव वालों ने कहा कि उन्हें अब भी इस बात का यक़ीन नहीं हो रहा है कि उनके गांव का कोई शख़्स ऐसा जघन्य अपराध कर सकता है. गांव के ही एक शख़्स ने कहा, “हम लोग खेतिहर मज़दूर हैं. आजीविका चलाने के लिए हमें रोज़ तरह-तरह की मज़दूरी करनी होती है.”

खुली हुई नालियों वाली गली से होते हुए हम एक अभियुक्त के घर पहुंचे. फूस की छत से बनी दो कमरों वाली इस झोपड़ी के एक कमरे में अभियुक्त की मां आराम कर रही हैं.
वो खुद को बैठने पाने में असहाय बताते हुए अपने पति की ओर इशारा करती हैं. अभियुक्त के पिता दिहाड़ी मजदूर हैं, वो बताते हैं कि उन्हें नहीं मालूम है कि क्या हुआ.

उन्होंने हाथ जोड़ते हुए कहा, “मेरे दो बेटे और एक बेटी हैं. कल को अगर मेरी बेटी के साथ ऐसा हो तो मैं चुपचाप नहीं बैठूंगा. इसलिए मैं चाहता हूं कि अगर मेरे बेटे ने ऐसा किया है जैसा बताया जा रहा है, तो उसे फांसी की सज़ा हो.”

Back to top button