राजनीतिराष्ट्रीय

खुले मंच पर फांसी लगाकर मृत्यु वरण कर लूंगा: अभिषेक बनर्जी

अभिषेक बनर्जी ने पूर्व मंत्री सुवेंदु अधिकारी को चुनौती देते हुए कहा

कोलकाता:तृणमूल कांग्रेस से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए ममता बनर्जी के पूर्व मंत्री सुवेंदु अधिकारी को चुनौती देते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी ने कहा कि वह ‘तोलाबाज’ (रंगदार), तो खुले मंच पर फांसी लगाकर मृत्यु वरण कर लूंगा। उनके पीछे सीबीआइ, ईडी और इनकम टैक्स लगाने की जरूरत नहीं होगी।

वहीं, सुवेंदु अधिकारी ने अभिषेक बनर्जी के वार पर पलटवार किया है। दक्षिण 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर के केल्लार मठ में तृणमूल के सांसद अभिषेक बनर्जी ने सभा को संबोधित करते हुए यह चुनौती दी।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पर हुए हमले के बाद अभिषेक बनर्जी की डायमंड हार्बर में यह पहली सभा थी। जेपी नड्डा की सभा के जवाब में उन्होंने यह सभा बुलाई थी। उन्होंने कहा कि जेपी नड्डा के काफिले पर हमला पूर्व योजना के तहत किया गया था।

अमित शाह दें इस्तीफा

उन्होंने कहा, “जोतो दोष, नंदो घोष” ( जितना भी दोष, सब उनका)। गाय तस्करी सीमा पर होती है।गाय तस्करी के आरोप में बीएसएफ के कमांडेंट गिरफ्तार हुए हैं। बीएसएफ और सीआरपीएफ का दायित्व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का है, तो उन्हें कैसे गाय तस्कर कहा जाता है ? अमित शाह को दायित्व लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए।

इसीएल व कोयला का दायित्व पीयूष गोयल का है, तो फिर वह कैसे कोयला चोर हुए ? उन्होंने कहा कि अमित शाह के रहते हुए बीएसएफ उनकी बात सुन रही है, तो फिर अमित शाह को गृह मंत्री के पद पर रहने का अधिकार नहीं है।

सुवेंदु अधिकारी को कहा मेरुदंडहीन अभिषेक बनर्जी ने कहा कि बंगाल गुजरात और मध्य प्रदेश नहीं हैं। मेरुदंड को बिक्री कर बंगाल को नरेंद्र मोदी के हाथों में नहीं सौंपा जा सकता है। यदि साहस नहीं है, तो घर में जाकर बैठें।

मेरा नाम सारधा और नारदा मामले में नहीं हैं, जबकि जो उन्हें ‘तोलाबाज’ बोल रहे हैं। उनका नाम सारधा और नारदा कांड में हैं। अभी भी उनके घर के दो सांसद तृणमूल कांग्रेस में है। उन्हें घर जाने में भी शर्म आनी चाहिए।

आकाश विजयवर्गीय और दिलीप घोष हैं गुंडा अभिषेक बनर्जी ने कहा, “कैलाश विजयवर्गीय, अमित शाह, दिलीप घोष, राहुल सिन्हा, बाबुल सुप्रियो उन पर ‘भाइपो’ बोल कर आक्रमण कर रहे हैं। यदि साहस है, तो उनका नाम लेकर आक्रमण करें। एक माह बीत गया, लेकिन वे नाम नहीं ले रहे हैं।

मैं फिर कहता हूं कैलाश विजयवर्गीय का बेटा आकाश विजयवर्गीय गुंडा है। कैलाश विजयवर्गीय बाहरी हैं और दिलीप घोष गुंडा हैं, यदि क्षमता है, तो अटकायें।उनके खिलाफ कार्रवाई करें। दिलीप घोष ने कोर्ट मामला किया है। मैं खुश हूं, दिलीप घोष को भी कोर्ट की मदद लेनी पड़ रही है। अब कानून की लड़ाई हो।”

तृणमूल कांग्रेस छोड़कर पिछले हफ्ते ही भाजपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री व कद्दावर नेता सुवेंदु अधिकारी का तृणमूल के प्रति तेवर बेहद सख्त है। रविवार को उन्होंने एक बार फिर तृणमूल पर करारा हमला बोला। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के दांतन में एक रोड शो के बाद आयोजित सभा को संबोधित करते हुए सुवेंदु ने कहा कि यह तो अभी ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है।

उन्होंने तृणमूल के खिलाफ हुंकार भरते हुए कहा कि 2021 के चुनाव में तृणमूल साफ हो जाएगी और भाजपा की यहां सरकार बनेगी। सुवेंदु ने इस दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे सांसद अभिषेक बनर्जी का नाम लिए बिना एक बार फिर उन पर निशाना साधते हुए तोलाबाज ‘भाइपो हटाओ’ (रंगदार भतीजा हटाओ) का नारा बुलंद किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button