IAS अफसर सुचित्रा सिन्हा भाजपा में शामिल होने जा रही है

झारखंड. सिविल सेवाओं में सबसे प्रतिष्ठित भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) को माना जाता है, इन परीक्षाओं को पास करना मुश्किल माना जाता है, मुश्किल इस लिए भी क्योंकि हर साल इसमें करीब दस लाख के करीब परीक्षार्थी शामिल होते हैं जिसमें मात्र एक हज़ार के करीब उत्तीर्ण हो पाते हैं.

जिस प्रशासनिक सेवा की ख्वाब लेकर लाखों लोग हर साल दिन रात एक कर देते हैं, उसी प्रशासनिक सेवा में सालो नौकरी कर चुके अफसरों को अब राजनीति के क्षेत्र में जाने की होड़ मची है, इस भागमभाग में सबसे ज्यादा क्रेज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का है. लिहाज़ा इन पदों को छोड़कर राजनीति में किस्मत आजमाना आसान नहीं है फिर भी हाल के दिनों में ऐसा देखा गया है कि चुनाव के वक़्त कुछ इनके अफसर राजनीतिक पार्टियों में शामिल होकर अपना किस्मत आज़माते हैं और सफल भी होते हैं. ज्यादातर अधिकारियों ने भाजपा में शामिल हो चुके हैं या फिर होने जा रहे हैं. इसी रेस में एक और महिला आईएएस की राजनीति में आने की खबर सुर्ख़ियों में बनी हुई है.

खबर है कि झारखंड कैडर की 2006 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी सुचित्रा सिन्हा भी भाजपा में शामिल होने जा रही है. पूर्व आईएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा बीजेपी में शामिल होंगी, शुक्रवार को उन्होंने प्रदेश कार्यालय में संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह से मुलाकात की. सुचित्रा सिन्हा रांची के प्रिंसिपल इनकम टैक्स कमिश्नर आरएन सहाय की पत्नी हैं, और इसी साल 30 सितम्बर को रजिस्ट्रार काॅपरेटिव के पद से रिटायर हुई हैं, बीजेपी में शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के काम और बीजेपी की नीति से प्रभावित होकर पार्टी में शामिल होने का फैसला लिया, समाजसेवा के लिए राजनीति में आ रही हूं, सुचित्रा सिन्हा 2018 में राज्य सेवा से आईएएस में प्रमोट हुई थीं.

Back to top button