खेल

आईसीसी अंडर-19 विश्व कप: तीन बांग्लादेशी क्रिकेटरों समेत दो भारतीयों को मिली सजा

बांग्लादेशी क्रिकेटरों की बदसलूकी के जवाब में आक्रामक हो गए ये दोनों भारतीय

दुबई: इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने आईसीसी अंडर-19 विश्व कप के दौरान हुई लापर्वाली के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए तीन बांग्लादेशी क्रिकेटरों को और आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट मामले के उल्लंघन के मामले में दो भारतीयों को सजा मिली. ये दोनों भारतीय बांग्लादेशी क्रिकेटरों की बदसलूकी के जवाब में आक्रामक हो गए हैं.

अंडर-19 विश्व कप (ICC U19 World Cup 2020) का फाइनल रविवार को खेला गया. इस रोमांचक फाइनल में बांग्लादेश ने भारत को तीन विकेट से हराया. बांग्लादेश के सारे खिलाड़ी मैच जीतते ही मैदान के बीच में पहुंच गए.

एक बांग्लादेशी खिलाड़ी भारतीय खिलाड़ी के पास पहुंचा और उनके सामने खड़ा हो गया. बांग्लादेशी खिलाड़ी ने भारतीयों से भड़काऊ बातें भी कहीं. इसके बाद एक भारतीय खिलाड़ी ने उसे दूर हटाया. विवाद बढ़ता देख अंपायरों ने बीचबचाव करते हुए दोनों खिलाड़ियों को एक दूसरे से दूर किया.

मैच के बाद दोनों मैदानी अंपायर सैम नोगास्की, एड्रियन होल्डस्टॉक, थर्ड अंपायर रविंद्र विमलसिरी और फोर्थ अंपायर पैट्रिक बोंगिनी ने इन खिलाड़ियों की शिकायत की. इस पर मैच रेफरी ग्रीम लेब्रूई ने मामले की सुनवाई की.

सुनवाई के दौरान बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद हृदॉय, शमीम हुसैन और रकीबुल हसन ने अपनी गलती मान ली. भारत के आकाश सिंह और रवि बिश्नोई ने भी आरोपा स्वीकार कर लिए. इसके बाद इन पांचों को सस्पेंशन प्वाइंट दिए गए.

बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद हृदॉय को 10 सस्पेंशन प्वाइंट दिए गए. शमीम हुसैन को आठ और रकीबुल हसन को चार सस्पेंशन प्वाइंट दिए गए. ये सस्पेंशन प्वाइंट दो साल तक कायम रहेंगे. भारत के आकाश सिंह को आठ रवि बिश्नोई को पांच सस्पेंशन प्वाइंट मिला. बिश्नोई को एक अन्य मामले में भी दो सस्पेंशन प्वाइंट दिए गए. उन्होंने बांग्लादेश के अविषेक दास के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया था

Tags
Back to top button