छत्तीसगढ़

पीलिया, डायरिया व मौसमी बीमारी के मरीजों से भरा आईशुलेसन वार्ड

भरत ठाकुर

बिलासपुर : मौसम में आ रहे उतार-चढ़ाव से पूरा जिला मौसमी बीमारी की चपेट में है। इसके अलावा बड़ी संख्या में पीलिया व डायरिया पीड़ित सिम्स पहुंच रहे हैं। यही वजह है कि 20 बिस्तरों का आइशुलेसन वार्ड फुल हो गया है। ऐसे में मरीजों को राहत देने के लिए 10 अतिरिक्त बिस्तर लगाए गए हैं।

डॉक्टरों के अनुसार गर्मी में वायरस के अधिक सक्रिय होने से मौसमी बीमारी फैल रही है। वहीं, दूषित पानी की वजह से पीलिया और डायरिया के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। सिम्स में एक महीने के भीतर 200 से ज्यादा डायरिया पीड़ित भर्ती हुए हैं। इसी तरह पीलिया के दो दर्जन से ज्यादा मरीजों का उपचार किया गया है। अब भी मरीजों के आने का सिलसिला जारी है। आइशुलेसन वार्ड में की गई अतिरिक्त बिस्तर की व्यवस्था भी कम पड़ने लगी है। इस कारण कई मरीजों को आपातकालीन वार्ड में रखा जा रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक आने वाले दो महीने तक स्थिति इसी तरह बने रहेगी।

लू ने भी किया बेहाल
शहर का तापमान 42 डिग्री से ऊपर चल रहा है। ऐसे में गर्मी और गर्म हवा भी परेशानी की वजह बन गई है। रोजाना एक दर्जन से ज्यादा लोग लू के शिकार होकर सिम्स पहुंच रहे हैं। वहीं सन बर्न के मामले भी बढ़ गए हैं।

03 Jun 2020, 10:50 AM (GMT)

India Covid19 Cases Update

216,824 Total
6,088 Deaths
104,071 Recovered

Tags
Back to top button