बिज़नेस

बढ़ सकती है आईसीआई बैक की परेशानियां, शेयहोल्डिंग ट्रांसफर में शामिल दीपक कोचर की कंपनी

आईसीआई बैंक ने दीपक कोचर की NRPL को अक्टूबर 2015 से घोषित किया 'रिलेटेड पार्टी'

पैसिफिक कैपिटल सर्विसेज, सुप्रीम एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (SEPL) और पिनाकल एनर्जी आईसीआई बैक की मुश्किलों को बढ़ा सकता है। ये कंपनियां बैंक की सीईओ चंदा कोचर के पति दीपक कोचर की कंपनी न्यूपावर रिन्यूएबल्स प्राइवेट लिमिटेड (NRPL) में शेयहोल्डिंग के ट्रांसफर में शामिल थी।

जांच एजेंसियों की रिपोर्ट में इस तरह का खुलासा नहीं करना कंपनीज एक्ट, 2013 का उल्लंघन हो सकता है या नहीं। इस एक्ट के सेक्शन 184 में कहा गया है कि एक कंपनी (सरकारी और प्राइवेट दोनों) के हर डायरेक्टर को अपने थर्ड पार्टी हितों का खुलासा करना चाहिए।

दिसंबर 2008 में वीडियोकॉन ग्रुप के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत और दीपक कोचर ने NRPL की शुरुआत की थी। इस कंपनी में धूत की हिस्सेदारी 50 पर्सेंट और बाकी शेयरहोल्डिंग दीपक कोचर और पैसिफिक कैपिटल के पास थी। पैसिफिक कैपिटल के मालिक दीपक कोचर के पिता और चंदा कोचर के भाई की पत्नी नीलम आडवाणी शामिल थे।

दूसरी कंपनी SEPL के मालिक धूत थे। धूत से कोचर को शेयर्स के ट्रांसफर और फिर कोचर और उनके रिश्तेदारों की पैसिफिक कैपिटल से SEPL को ट्रांसफर से मार्च 2010 तक NRPL में SEPL 94.99 पर्सेंट की शेयरहोल्डर बन गई थी। कोचर के पास लगभग 5 पर्सेंट हिस्सेदारी थी। नवंबर 2010 में धूत ने SEPL में अपनी पूरी होल्डिंग सहयोगी महेश चंद्र पुंगलिया को ट्रांसफर कर दी थी। पुंगलिया से CBI दो बार पूछताछ कर चुकी है।

ICICI बैंक के खिलाफ 2016 में गड़बड़ी के आरोपों की जांच करने वाले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने भी अपनी रिपोर्ट में कहा था कि ICICI बैंक ने दीपक कोचर की NRPL को अक्टूबर 2015 से ‘रिलेटेड पार्टी’ घोषित किया था। हालांकि, अक्टूबर 2015 से पहले केवल NRPL के सीईओ दीपक कोचर को बैंक की एमडी और सीईओ (चंदा कोचर) का महत्वपूर्ण रिश्तेदार घोषित किया गया था।

#आईसीआई बैक,# दीपक कोचर,# सीईओ चंदा कोचर ,#पैसिफिक कैपिटल सर्विसेज

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.