भूपेश बघेल में वैचारिक कमजोरी – संजय श्रीवास्तव

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने भूपेश बघेल के बयान एवं मांग को उनकी वैचारिक कमजोरी एवं सोचने की शक्ति का ह्यस बताया है।

भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि बहुत ही हास्यापद बात है कि जम्मू काश्मीर में राज्यपाल शासन लगता है और भूपेश बघेल को दिन में सपना आना प्रांरंभ हो जाता है।

भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि जम्मू में विगड़ती हालात को देखते हुए समर्थन वापस लेने पर राज्यपाल शासन लगता है। भूपेश बघेल को बिना कारण छत्तीसगढ़ में राष्ट्रपति शासन की याद आने लगती है।

भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तवं ने कहा कि यह जरूर है कि अब भूपेश बघेल को यह विश्वास हो गया है कि पिछले तीन चुनावों की तर्ज पर चैथी बार भी ये भाजपा को पराजित नहीं कर सकते है तो कम से कम राष्ट्रपति शासन लगाकर भाजपा को सत्ता से बाहर कर दें।

श्रीवास्तव ने कहा कि भूपेश जी को चिंता इस बात कि हो रही है कि वो किस तरह प्रदेश के जनता को अपने झांसे में लें और उन्हें भ्रमित करें भूपेश बघेल स्पष्ट रूप से ये मान चुके हैं कि भाजपा कि चैथी पारी होना तय है ,इसलिए उनके मन कि बौखलाहट स्पष्ट तौर पर उनके बयानों में दिख रही है चूँकि कांग्रेस के पास राजनीति करने के लिए कोई और मुद्दा शेष रह नहीं गया है इसलिए अपनी पार्टी कि दिवालियापन को ध्यान में रखते हुए भूपेश बघेल कुछ भी बयान बाजी पर उतर आये हैं चूँकि उन्हें इस बात का पूर्ण रूप से आभास हो चूका है कि प्रदेश के जनता के समक्ष अब उनकी दाल गलती नजर नहीं आ रही।

Back to top button