छत्तीसगढ़

श्री राम केयर अस्पताल गैंगरेप मामले में कराई गई आरोपियों की शिनाख्त परेड

कोनी थाना क्षेत्र में रहने वाली इंजीनियरिंग की छात्रा ने पी लिया था जहर

बिलासपुर: श्री राम केयर हॉस्पिटल बिलासपुर मे युवती के इलाज के दौरान हॉस्पिटल के 2 वार्ड बॉय के द्वारा युवती के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया था। मामले में शुक्रवार को पीड़िता का बयान दर्ज हुआ था। इस मामले में आज शनिवार को आरोपियों की शिनाख्त परेड कराई गई।

कोनी थाना क्षेत्र में रहने वाली इंजीनियरिंग की छात्रा ने जहर पी लिया था, जिसके बाद उसका इलाज बिलासपुर के श्री राम केयर अस्पताल में चल रहा था, आरोप है कि इसी दौरान 21 और 22 मई की रात अस्पताल के ही 2 वार्ड बॉय ने वेंटिलेटर पर मौजूद युवती के साथ गैंग रेप किया था।

दूसरे दिन युवती ने अपने पिता को एक कागज में लिख कर इसकी जानकारी दी, जिसके बाद तो हंगामा ही मच गया। हालांकि सीसीटीवी फुटेज से ऐसी किसी भी घटना की पुष्टि नहीं हुई लेकिन उसके बाद से बीमार लड़की के स्वस्थ होने का इंतजार किया जा रहा था, ताकि उसका बयान दर्ज किया जा सके।

3 वार्ड बॉय को लेकर पहचान परेड कराई गई

अब मैं लड़की के स्वस्थ होने के बाद शुक्रवार को अपोलो अस्पताल मैं युवती के बयान देने के लायक होने के बाद नायब तहसीलदार ने युवती के बयान को कलम बद्ध किया तो वही शनिवार को 3 वार्ड बॉय को लेकर पहचान परेड कराई गई। पहले तो तीनों वार्डबॉय को अपोलो अस्पताल लाया गया फिर मीडिया से बचने उन्हें किसी दूसरे स्थान पर ले जाकर उनकी पहचान कराई गई।

पीड़ित युवती अपने बयान पर कायम

सूत्रों की मानें तो पीड़ित युवती अपने बयान में अपने साथ गैंग रेप होने पर कायम है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उसने शिनाख्त परेड के दौरान वार्ड बॉय की पहचान की है या नहीं। वही जिस युवती को स्वस्थ बताया जा रहा था अब एक बार फिर कहा जा रहा है कि युवती की तबीयत बिगड़ चुकी है और उसका अभी भी इलाज जारी रहेगा, जबकि इससे पहले उसे अपनों से डिस्चार्ज करने की बात कही जा रही थी।

आरोप लगने के बाद करीब पखवाड़े भर का वक्त बीत चुका है और अब तक जांच की प्रक्रिया ही जारी है, यही कारण है कि कुछ लोग इस मामले में सांठगांठ होने और मामले को रफा-दफा करने के लिए बड़ा सौदा होने की बात भी कह रहे हैं। ऐसी ही आशंका पीड़ित युवती के पिता भी जता चुके हैं ।

अगर श्री राम केयर अस्पताल के वार्ड बॉय ने सचमुच युवती के साथ बलात्कार किया है तो दोषियों की तुरंत गिरफ्तारी होनी चाहिए और अस्पताल प्रबंधन पर भी सख्त कार्यवाही की जरूरत है, लेकिन अगर इस मामले में युवती गलत बयानी कर रही है या फिर मनगढ़ंत कहानी सुना रही है तो उसके खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही की आवश्यकता है। इस मामले में पुलिस की कार्यवाही में हो रही देरी के कारण ही तरह-तरह के सवाल पैदा हो रहे हैं, जो अंततः पुलिस की छवि को ही दागदार कर रही है।

Tags
Back to top button