IDFC बैंक ने क्रेडिट कार्ड धारकों को बड़ी राहत देने का किया ऐलान

एक साथ 5 तरह के क्रेडिट कार्ड लॉन्च करने जा रहा IDFC बैंक

नई दिल्ली:भारत की निजी IDFC बैंक एक साथ 5 तरह के क्रेडिट कार्ड लॉन्च करने जा रहा है. इस बैंक ने अपने ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड पर बिना कोई ब्याज लिए इंट्रस्ट फ्री कैश की सुविधा देने का ऐलान किया है. IDFC First Bank अपने क्रेडिट कार्ड धारकों को 48 दिनों के लिए इंट्रस्ट फ्री कैश एडवांस की सुविधा दे रहा है.

दरअसल, दूसरे बैंक क्रेडिट कार्ड से नकदी निकासी पर काफी ब्याज वसूलता है. आमतौर पर हर ट्रांजैक्शन पर बैंक 250 से 450 रुपये चार्ज करते हैं. अगर ब्याज की बात करें तो मंथली 2.5% से 3.5% वसूला जाता है. लेकिन IDFC फर्स्ट बैंक ने किसी तरह का ब्याज नहीं वसूलने का फैसला किया है. केवल हर कैश ट्रांजैक्शन पर 250 रुपये वसूले जाएंगे.

इंट्रस्ट फ्री कैश की सुविधा का फायदा उन ग्राहकों को मिलेगा, जिनका ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा होगा. ऐसे में क्रेडिट कार्ड ने कैश निकालने वालों को इस बैंक से बड़ी राहत मिलने वाली है. IDFC First Bank बैंक ने अपने क्रेडिट कार्ड के बिजनेस को बढ़ाने के लिए शुक्रवार को क्रेडिट कार्ड पर इंट्रस्ट फ्री कैश एडवांस से साथ काफी कम इंट्रस्ट रेट पर क्रेडिट कार्ड से ट्रांजैक्शन की सुविधा शुरू की है.

ज्यादातर बैंक क्रेडिट कार्ड पर हुए ट्रांजैक्शन पर सालाना 30 से 42 फीसदी का भारी ब्याज लेते हैं. जबकि IDFC बैंक में मंथली 0.75 से 2.99 फीसदी यानी 9 फीसदी से लेकर 35.88 फीसदी तक सालाना ब्याज होगा. बैंक ने कहा कि नए ग्राहकों को भी इसका फायदा मिलेगा.

वहीं IDFC फर्स्ट बैंक ने बचत खातों पर 1 लाख रुपये से कम की जमा में भी 7 फीसदी का ब्याज देकर चौंका दिया था. उसने अपने प्रतिद्वंद्वी बैंकों को कड़ी प्रतिस्पर्धा भी दे दी है. यह बढ़त बैंक ने 1 जनवरी 2021 से ही लागू कर दी है. इसके पहले बैंक एक लाख से कम रकम पर 6 फीसदी तक का ब्याज दे रहा था.

गौरतलब है कि ज्यादातर बैंक बचत खातों पर 3 से 4 फीसदी का ब्याज देते हैं. IDFC बैंक 5 तरह के क्रेडिट कॉर्ड लॉन्च करने जा रहा है. इन कार्ड का FIRST मिलेनिया क्रेडिट कार्ड, FIRST क्लासिक क्रेडिट कार्ड, FIRST सलेक्ट क्रेडिट कार्ड, FIRST वेल्थ क्रेडिट कार्ड और एम्प्लॉयी क्रेडिट कार्ड होगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button