बच्चे स्वस्थ होंगे तो छत्तीसगढ़ भी मजबूत बनेगा – बघेल

मुख्यमंत्री बघेल वजन त्यौहार के वर्चुअल शुभारंभ समारोह में हुए शामिल

रायपुर, 07 जुलाई 2021: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां राजधानी रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 7 से 16 जुलाई तक आंगनबाड़ियों में मनाए जा रहे प्रदेशव्यापी वजन त्यौहार का वर्चुअल शुभांरभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के समक्ष बच्चों का वजन भी लिया गया। बघेल ने कहा कि कहा कि हमारे बच्चे यदि मजबूत होंगे, ताकतवर बनेंगे, हमारी बेटियों में खून की कमी दूर होगी तो निश्चित रूप से छत्तीसगढ़ मजबूत बनेगा। मुख्यमंत्री ने 5 वर्ष तक के सभी बच्चों का अनिवार्य रूप से वजन कराकर उनके सुपोषण स्तर का मूल्यांकन कराने और किशोरी बालिकाओं का हीमोग्लोबिन जांच की अपील की।

इस अवसर पर बघेल रायपुर जिले के धरसींवा विकासखण्ड स्थित बिरगांव और दुर्ग जिले के पाटन स्थित गांव अटारी में आयोजित वजन त्यौहार कार्यक्रम में बच्चों की माताओं से आंगनबाड़ी में मिलने वाले लाभ के बारे में भी जानकारी ली। इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह, महिला एवं बाल विकास मंत्री मती अनिला भेंडिया, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, महिला एवं बाल विकास विभाग की सचिव मती रीना बाबा साहब कंगाले, संचालक समाज कल्याण पी. दयानंद, संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग मती दिव्या मिश्रा उपस्थित थीं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री बघेल ने धरसीवां विकासखंड की बिरगांव में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सु नीलू परगनिहा से भी चर्चा की। मुख्यमंत्री द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से उनका अनुभव तथा कुपोषण की स्थिति के बारे में जानकारी लिये जाने पर उन्होंने बताया कि पहले उनके आंगनबाड़ी केंद्र में 7 मध्यम कुपोषित बच्चे थे। जिनमें से 5 बच्चे अब सामान्य हो चुके हैं, 2 बच्चे अभी भी मध्यम कुपोषित हैं। उन्होंने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चों को मुख्यमंत्री बाल संदर्भ योजना का लाभ देने के साथ रेडी टू ईट की सामग्री तथा गरम भोजन प्रदान किया जाता है।

कुपोषित बच्चों के घरों में जाकर उनके पालकों को बच्चों के खानपान से संबंधित समझाईश भी दी जाती है। चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री बघेल कुपोषण से स्वस्थ हुए बच्चे की माता मती संगीता साहू से भी रूबरू हुए। मुख्यमंत्री द्वारा योजना से मिले लाभ की जानकारी लेने पर मती साहू ने बताया कि कुपोषण के कारण उनके बच्चे का वजन काफी कम था, परंतु आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा रेडी टू ईट की सामग्री तथा उसके उपयोग के बारे में जानकारी मिलने से वह सामान्य हो चुका है। मुख्यमंत्री बघेल ने योजना से लाभान्वित सभी माताओं और बच्चों को बधाई एवँ शुभकामनाएं दी। उन्होंने महिलाओं से उनसे इस योजना का अपने स्तर पर अधिक से अधिक प्रचार करने की बात कही।

बिरगांव मेें उपस्थित विधायक सत्यनारायण शर्मा ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं बेहतर काम कर रहीं है। वजन त्यौहार में 1 लाख 61 हजार 20 बच्चों के वजन और ऊंचाई का माप लिया जाएगा। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि कहा कि महिला बाल विकास विभाग के साथ सभी जनप्रतिनिधि वजन त्यौहार एवं कुपोषण मुक्ति के अभियान को सफल बनाने जुटे हुए हैं, इसका लाभ निश्चित रूप से समाज को मिल रहा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button