राष्ट्रीय

दिल्ली पूर्ण राज्य होता तो ऐसा कर देते कि दुनिया देखती : केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अब मेट्रो किराया वृद्धि पर अपनी नाराजगी जहां जनता के बीच जाहिर करना शुरू कर दिया है वहीं दिल्ली की कानून व्यवस्था पर भी वे केंद्र की भाजपानीत सरकार को घेरना नहीं भूलते। किराया वृद्धि के बाद संभवत: पहली बार जनता के बीच पश्चिमी दिल्ली में एक कार्यक्रम में पहुंचे केजरीवाल ने सचिवालय से वैगन-आर कार चोरी होने पर जहां दिल्ली पुलिस को निशाने पर लिया वहीं कहा कि यदि दिल्ली पूर्ण राज्य होता तो दिल्ली में सरकार का ऐसा मॉडल दिखाते कि पूरी दुनिया देखती।
मेट्रो किराए पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार को हमने कहा कि किराया बढ़ोतरी रोककर जांच करवा लेते हैं लेकिन जवाब में चिट्ठी आई कि तीन हजार करोड़ का नुकसान हर साल होगा। हम दिल्ली के लोगों के लिए हम डेढ़-डेढ़ हजार करोड़ रुपए देने के लिए तैयार हो गए ताकि दिल्ली के लोग मेट्रो इस्तेमाल कर सकें।
श्री केजरीवाल ने कहा कि पिछले कई दिनों से लोग बता रहे हैं कि मेट्रो खाली जा रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी मेट्रो का क्या फायदा जो खाली रहे या जनता जिसका इस्तेमाल न कर पाए।
मेट्रो घाटे पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कहते हैं मेट्रो को घाटा होगा लेकिन अब जब मेट्रो खाली जा रही है तो फायदा कैसे होगा, जनता टिकट नहीं खरीदेगी तो घाटा ही होगा।
उन्होंने कहा कि जनता को बिजली पर सब्सिडी दी तो कौन सा बुरा काम कर दिया, पहले यह पैसे चोरी किया करते थे हमने पैसा खाना बन्द करा दिया और उसी पैसे की सब्सिडी दे दी ताकि जनता का भला हो।
केजरीवाल ने कहा कि मैं लड़ रहा हूं, कहते हैं दिल्ली आधा राज्य है लेकिन मैं तो कहता हूं एक चौथाई राज्य भी नहीं है, दिल्ली सरकार को कोई पावर नहीं है इसके बावजूद वो करके दिखाया जो 70 साल में नहीं हुआ, अगर दिल्ली पूरा राज्य होता तो बहुत कुछ करके दिखाते।
कार चोरी होने पर सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सचिवालय के सामने से मुख्यमंत्री की गाड़ी चोरी हो जाती तो छोटी बात थी, पुरानी गाड़ी थी कोई बड़ी बात नहीं थी। लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री की गाड़ी सचिवालय से चोरी हो जाए तो दिल्ली में कैसी पुलिस या कानून व्यवस्था है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *