भारत चाहे तो फिर हो सकता है सर्जिकल स्ट्राइक – जनरल हुडा

नई दिल्ली : मीडिया में इन दिनों जहां सितंबर, 2016 में पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकी शिविरों को नष्ट करने के लिए किए गए सर्जिकल स्ट्राइक का विडियो प्रसारित हो रहा है, वहीं उस अभियान के इन-चार्ज रहे आर्मी के तत्कालीन नॉर्दर्न कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डी.एस.हुड्डा का मानना है कि भारत अगर इस्लाबामाद को दोबारा कड़ा संदेश देना चाहता है तो फिर से सर्जिकल स्ट्राइक किया जा सकता है। जनरल हुड्डा ने बताया कि 2016 में आतंकी कैम्पों पर हमले का फैसला केंद्र का था और सेना ने उसपर सहमति जताई थी।

जनरल हुडा ने कहा, ‘सर्जिकल स्ट्राइक करने का फैसला पॉलिटिकल लीडरशिप की तरफ से आया था, सेना का मानना था कि हमें कुछ करने की जरूरत है। अगर हम भविष्य में पाकिस्तान को एक और संदेश देना चाहते हैं, हम यह दोबारा कर सकते हैं।’

उल्लेखनीय है कि 29 सितंबर, 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक से जुड़ा 8 मिनट का विडियो बुधवार को न्यूज चैनलों पर प्रसारित किया गया। इस विडियो में देखा जा सकता है कि सेना के स्पेशल फोर्सेज ने एलओसी पार कर पाकिस्तान के तरफ मौजूद आतंकी कैम्पों को नष्ट कर दिया। यह विडियो कथित रूप से ड्रोन और अनमैन्ड एरियल वीइकल (UAV) से शूट किया गया था और ऑपरेशन को मॉनिटर करने वाले सेना के थर्मल इमेजिंग कैमरा से कैप्चर किया गया था।

उस वक्त नॉर्दर्न कमांडर रहे जनरल हुडा ने हमारे सहयोगी टाइम्स नाउ से कहा, ‘ऑपरेशन को उधमपुर स्थित नॉर्दन कमांड के हेडक्वॉर्टर के कंट्रोल रूम से मॉनिटर किया जा रहा था। सीमा पार जाने वाली टीम की एक मुख्य परेशानी चुनौती यह भी थी कि आतंकी शिविर पाकिस्तान आर्मी पोस्ट के करीब थे।’ उन्होंने आगे बताया कि पूरा अभियान छह घंटे में पूरा हुआ। पहले टार्गेट पर आधी रात को हमला किया गया और अभियान सुबह लगभग 6 – 6.15 बजे खत्म हुआ।

Back to top button