अगर नहीं लगा है तो जल्द ही लगा लें दुपहिया वाहन के रियर व्यू, नहीं तो पड़ सकता है भारी

रियर व्यू न होने की वजह से होती हैं दुर्घटनाएं

नई दिल्ली: सड़कों पर चलने वाले दुपहिया (स्कूटर/मोटरसाइकिल) वाहनों में बड़ी संख्या में ऐसे वाहन शामिल हैं, जिनके हैंडल पर रियर व्यू मिरर नहीं लगा होता है. इस वजह से चालक पीछे से आ रहे वाहनों का सही अंदाज़ा नहीं लगा पाते है और बड़े वाहनों की चपेट में आ जाते हैं.

इस लापरवाही की वजह से बड़ी संख्या में दुर्घटना होती हैं और जान माल का भी नुकसान होता है. इसलिए अब जिस भी दुपहिया पर रियर व्यू मिरर नहीं लगा हुआ मिलेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई करते हुए चालान किया जाएगा.

डीसीपी प्रशांत गौतम ने आदेश में कहा है कि कार चालकों पर भी कार्रवाई होगी है. उन्होंने कहा है कि कार की पिछली सीट पर बैठने वाली सवारियों को सीट बेल्ट लगाने के निर्देश पहले ही दिए जा चुके हैं. ये लोगों की सुरक्षा के लिए है, लेकिन लोग इसका पालन नहीं करते हैं.

लोगों को सुरक्षा के प्रति जागरूक करने की जरूरत है और जो भी व्यक्ति लापरवाही करता पाया जाएगा , उसके खिलाफ चालान की कार्रवाई की जाएगी. वेस्टर्न रेंज डीसीपी ने अपनी रेंज में 13 जनवरी से विशेष अभियान शुरू करवाया है, जिसमें बगैर रियर व्यू वाले दुपहिया चालकों और कार की पिछली सीट पर बगैर सीट बेल्ट के सवारी बैठाने वाले चालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए चालान किया जाएगा.

नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई जो भी वाहन चालक उपरोक्त नियमों का उल्लंघन करते पाए जाते हैं, उनके खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट 1988 और सेंट्रल मोटर व्हीकल रूल्स 1989 के तहत कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button