इंसाफ नहीं मिला तो रेप पीड़ित महिला ने फांसी लगाकर कर ली खुदकुशी

आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के शासन में एक रेप पीड़ित महिला को इंसाफ नहीं मिलने पर आत्महत्या करना पड़ा। महिला गोंडा के कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र की है।

पीड़ित महिला ने अगस्त, 2018 में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। महिला के पति का कहना है कि गांव के दो लोगों ने उनकी पत्नी के साथ रेप किया था। उन्होंने बताया कि इस बात की शिकायत उन्होंने पुलिस में की थी। उनका आरोप है कि शिकायत के बावजदू आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। उनका कहना है कि पुलिस जांच का आश्वासन देकर मामले को टालती रही।

महिला के पति का कहना है कि वे और उनकी पत्नी न्याय के लिए लखनऊ भी गए थे। उनका कहना है कि वे 6 महीने तक दौड़ते रहे, लेकिन उन्हें इंसाफ नहीं मिला है। महिला के पति का कहना की उनकी पत्नी पहले से ही कह रही थी कि अगर इंसाफ नहीं मिला तो वह खुदकुशी कर लेगी।

महिला की खुदकुशी के बाद पुलिस का बयान आया है। पुलिस के मुताबिक, हाल ही में पीड़िता द्वारा दोबारा शिकायत किए जाने के बाद जिले के अपर पुलिस अधीक्षक को मामले की जांच सौंपी गई थी। इस बीच पीड़ित महिला ने खुदकुशी कर ली।

बताया जा रहा है कि जिस पुलिस को महिला को इंसाफ दिलाना था, उसने इस मामले में दो बार फाइनल रिपोर्ट लगा दी थी। उधर, आला अधिकारियों का कहना है कि इस मामले में दो निरीक्षकों को निलंबित कर दिया गया है, और कर्नलगंज के दारोगा को भी लाइन हाजिर कर दिया है।

1
Back to top button