अगर इस चीज का सही इस्तेमाल नहीं किया तो घर में होगा दरिद्रता का निवास

फेंगशुई और वास्तु की मानें तो घर में लगा हुआ शीशा भी घर-परिवार पर काफी प्रभाव डालता है

आईना जिसका इस्तेमाल व्यक्ति सजने-संवरने के लिए करता है। इसके साथ ही आईना कईं बार लोगों के अकेलेपन को भी दूर करता है। अक्सर लोगों को शीशे के सामने खड़े हो बातें करते पाया जाता है।

एक तरफ़ से देखा जाए तो यह हर किसी के जीवन का एक अहम हिस्सा हो गया है। लेकिन क्या आपको पता है कि शीशा न केवल सजने संवरने के काम आता है बल्कि वास्तु के अनुसार यह घर की साज-सजावट का एक हिस्सा बन चुका है।

आजकल मार्केट में कईं प्रकार के शीशे मिलते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर इसका इस्तेमाल ठीक ढंग से न किया जाए तो इससे हमारे घर की सुख-शांति के साथ-साथ घर में दरिद्रता का निवास हो जाता है।

फेंगशुई और वास्तु की मानें तो घर में लगा हुआ शीशा भी घर-परिवार पर काफी प्रभाव डालता है। आईए जानते हैं कैसे-

घर में नया शीशा लाने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि उसका फ्रेम किस रंग और किस आकार का है। क्योंकि इससे भी नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है।

इसलिए कभी भी ज्यादा गहरे रंग का फ्रेम न लेकर हल्के रंग जैसे कि नीला, सफ़ेद, हरा, क्रीम आदि रंग ले। साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि भी शीशा गोल आकार का हो।

वास्तु और विज्ञान दोनों में माना जाता है कि शीशा किसी भी प्रकाश को परावर्तित कर देता है। वह ऊर्जा कोई भी हो सकती है नकारात्मक या फिर सकारात्मक।

कहा जाता है कि अगर इसे सही जगह में न रखा जाए तो इसे घर में नकारात्मक ऊर्जा बढ़ने लगती है। साथ ही घर में परेशानी और दांपत्य जीवन में भी इसका गहरा प्रभाव पड़ता है।

Tags
Back to top button