छत्तीसगढ़

बारिश और बाढ़ ने मुसीबत बढ़ाई, तो इधर केलो नदी बौराई

आज सुबह तक रायगढ़ में बीते 24 घंटे में करीब 108 मिमी पानी गिर चुका था।

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

कल दोपहर से शुरू बारिश लगातार जारी है, मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया हैबीते 24 घंटे से हो रही लगातार बारिश से पूरा रायगढ़ शहर पानी-पानी हो गया है। नदी नाले उफान पर हैं। आज सुबह तक रायगढ़ में बीते 24 घंटे में करीब 108 मिमी पानी गिर चुका था। सुबह के बाद तो बारिश ने और रफ्तार पकड़ ली है। कुछ देर में बारिश संबंधित डेटा स्पष्ट हो जाएगें। वीडियो में केलो नदी का मरीन ड्राइव, छठ घाट और मोदीनगर के दृश्य हैं।

मोदीनगर, तेंदुडीपा (खेतपारा), पैठू डबरी बुरी तरह से प्रभावित हैं। निगम अमला सुबह से ही पूरे शहर में राहत-बचाव कार्य में लगा हुआ है।
निगम आयुक्त आशुतोष पांडेय खुद इस बाढ़ के समय वार्डों में राहत और बचाव कार्य में जुटे हैं। उन्होंने बताया कि वे खुद बारिश में फंसे और अमले को निर्देशित कर रहे हैं।बारिश और बाढ़ ने मुसीबत बढ़ाई, तो इधर केलो नदी बौराई

निगम के सफाई दरोगा अरविंद द्विवेदी बताते हैं कि बारिश के अलर्ट पर निगम अमला भी अलर्ट है लेकिन जिस रफ्तार से बारिश हो रही है राहत-बचाव कार्य में बाधा आ रही है। पैठू डबरी में हमारी टीम मुस्तैद है। अब फायर ब्रिगेड से पानी निकला जा रहा हैं।

क्या कहता है मौसम विभाग

एक सुस्पष्ट चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र झारखंड के दक्षिण पश्चिम भाग में स्थित है इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। मानसून द्रोणिका बहराइच, वाराणसी से होते हुए दीघा और उसके बाद दक्षिण पूर्व दिशा की ओर उत्तर बंगाल की खाड़ी तक स्थित है। प्रदेश में आज अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश के कुछ स्थानों पर मध्यम से भारी तथा एक-दो स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है। आज 27 अगस्त को प्रदेश के बिलासपुर, दुर्ग और रायपुर संभाग में मुख्यतः भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है।

बारिश और बाढ़ ने मुसीबत बढ़ाई, तो इधर केलो नदी बौराई

कल दिनांक 28 अगस्त को प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश के कुछ स्थानों पर मध्यम से भारी तथा एक-दो स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है। 28 अगस्त को प्रदेश के उत्तर पश्चिम में स्थित जिले (बिलासपुर, सरगुजा, दुर्ग, रायपुर संभाग के जिले ) और इससे लगे जिलों में भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है।

औसत से ज्यादा बारिश कल तक के बारिश के आंकड़े बताते हैं कि रायगढ़ में मॉनसून सीज़न में कल तक औसत 933.3मिमी के मुकाबले 901.8 मिमी बारिश दर्ज कर ली गयी थी जो औसत से मात्र 3 प्रतिशत कम थी जो खबर के लिखते तक ऑसत से ऊपर हो गयी होगी
टैप कर देखें केलो नदी कैसे बौराई

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button