ट्रैकिंग के है शौकीन तो जानिए ‘सुसाइड फॉरेस्ट’ के बारे मे

ट्रैकिंग करने के शौकीन लोग अक्सर जंगलों में घूमने के लिए जाते हैं। मगर आज हम आपको एक ऐसे जंगल के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जाना किसी खतरे से खाली नहीं है।

‘सुसाइड फॉरेस्ट’ के नाम से मशहूर इस जंगल में जाना बेहद खतरनाक है लेकिन फिर भी टूरिस्ट यहां भारी संख्या में आते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं सुसाइड फॉरेस्ट से जुड़ी कुछ खास बातें।

सुसाइड फॉरेस्ट लोकेशन

जापान, माउंट फूजी के नॉर्थवेस्ट में स्थित सुसाइड फॉरेस्ट 35 स्क्वेयर कि.मी. के बड़े एरिया में फैला हुआ है। घना जंगल होने के कारण इसे पेड़ों का सागर भी कहा जाता है। यह जंगल इतना बड़ा है कि यहां गम हो जाना आम बात है इसलिए यहां जाते समय पूरी तैयारी रखना बहुत जरूरी है। ऐसा कहा जाता है कि यहां एक बार जो यहां गया उसका लौटकर आना बेहद मुश्किल है।

सुसाइड जगहों में मिला है दूसरा स्थान

जापान के इस फॉरेस्ट को सुसाइड प्वाइंट में दूसरा नंबर मिला है। आपको बता दें कि यहां पहला गोल्डेन गेट है। इस जंगल की दूरी जापान की राजधानी टोक्यो से महज दो घंटे से भी कम है।

फॉरेस्ट में एंट्री करते समय पढ़ें ये मैसेज

इस जंगल के एंट्री गेट पर ऐसा मैसेज लिखा है, जिसे पढ़ने के बाद कोई भी यहां जाने से डरेगा। इसके एंट्री गेट पर लिखा है- ‘ध्यान से अपने बच्चों, परिवार और अपने जीवन के बारे में सोचें जोकि आपके माता-पिता का दिया अनमोल तोहफा है।’ अब आप भी बताएं भला इस मैसेज को पढ़ने के बाद कौन यहां जाना चाहेगा।

जंगल में जाते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

भले ही प्राकृतिक रूप से यह जंगल बहुत खूबसूरत हो लेकिन यहां अकेले जाना बहुत खतरनाक है। रास्ता याद रहे इसलिए पेड़ों पर प्लास्टिक टेप बांधते हुए चलते हैं। इस जंगल में करीब 300 साल पुराने अद्भुत पेड़ भी हैं, जिन्हें देखकर हर कोई हैरान हो जाता है। साथ ही लोग इस जंगल को देखने के लिए ज्यादा दूर नहीं जाते।

सुसाइड फॉरेस्ट से जुड़ी कहानियां

ऐसा माना जाता है कि इस फॉरेस्ट में मरे हुए लोगों की आत्माएं रहती हैं। यहां 2003 से करीब 105 डेडबॉडीज खोजी जा चुकी हैं। सबसे बड़ी प्रॉब्लम यह है कि इस जंगल में कोई भी मॉडर्न टेक्नॉलजी जैसे कम्पस, मोबाइल फोन वगैरह काम नहीं करते।<>

Back to top button