छत्तीसगढ़

पुरानी पेंशन चाहते है तो एक कॉल कीजिए

टोल फ्री न. 1800117800 पर बीप के बाद बाद रिकार्ड करें

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

एक नेशन – एक पेंशन,
हमारा मिशन – पुरानी पेंशन,

राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी पी सिंह रावत व छत्तीसगढ़ के प्रदेश संयोजक संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, प्रदेश सह संयोजक सुधीर प्रधान, वाजीद खान, हरेंद्र सिंह, देवनाथ साहू, बसंत चतुर्वेदी, प्रवीण श्रीवास्तव, विनोद गुप्ता, मनोज सनाढ्य, शैलेन्द्र पारीक ने कहा है कि बाजार आधारित NPS योजना के जगह पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू करने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री जी की मन की बात का प्रसारण 30 अगस्त को होना है, जिसके मुद्दे का पंजीयन 26 अगस्त तक किया जाना है, अतः पुरानी पेंशन बहाली के लिए एनपीएस कर्मचारी 26 अगस्त तक टोल फ्री न. 1800117800 पर अपनी बात रिकार्ड कर प्रधानमंत्री के लिए आग्रह पहुंचा सकते है।

देश के 60 लाख व छत्तीसगढ़ के 3.50 लाख एनपीएस कर्मचारियो का रुझान राष्ट्रीय अध्यक्ष बी पी सिंह रावत के लगातार अच्छी व सशक्त रणनीति के कारण NOPRUF से जुड़ा है, कम समय मे पोस्टर अभियान, पेड़ लगाओ – पर्यावरण बचाओ, PM/CM टैग व एनपीएस से आजादी के कार्यक्रम ने देश मे NIPRUF को शीर्ष पर पहुंचा दिया है।

प्रधान मंत्री तक आग्रह पहुंचाने के लिए एक नेशन – एक पेंशन,,हमारा मिशन – पुरानी पेंशन का टैग लाइन बोलकर आग्रह किया जा रहा है, देश व छत्तीसगढ़ में समस्त विभाग के कर्मचारी, शिक्षक, लिपिक, स्वास्थ्य कर्मचारी, अधिकारी, रेलवे कर्मी, पुलिस कर्मी, बैंक कर्मी, पैरा मिलिट्री के जवानों के बुढ़ापे का सहारा पुरानी पेंशन बहाल करने टोल फ्री न. पर आग्रह किया जा रहा है

छत्तीसगढ़ में 3.50 लाख कर्मचारियो के लिए पुरानी पेंशन बहाली हेतु प्रदेश संयोजक संजय शर्मा व वीरेंद्र दुबे की संयुक्त भूमिका में संघर्ष जारी है, प्रदेश के कर्मचारी व शिक्षक एनपीएस के जगह पुरानी पेंशन बहाली के लिए एकजुट होकर लगातार NOPRUF से जुड़ रहे है।

पुरानी और नई पेंशन स्कीम में अन्तर इस तरह स्पष्ट किया गया है कि

पुरानी पेंशन व्यवस्था का शेयर मार्केट से कोई संबंध नहीं था।इसके अन्तर्गत सेवानिवृत्त कर्मचारी को पेंशन देना सरकार का दायित्व होता था, पुरानी पेंशन में हर छः माह पर डीए जोड़ा जाता था, जबकि न्यू पेंशन स्कीम एक म्‍यूचुअल फंड की तरह है. ये शेयर मार्केट पर आधारित व्यवस्था है।

एनपीएस कर्मचारी या अधिकारी जिस दिन वह रिटायर होता है, उस दिन जैसा शेयर मार्केट होगा, उस हिसाब से उसे 60 प्रतिशत राशि मिलेगी. बाकी के 40 प्रतिशत के लिए उसे पेंशन प्लान लेना होगा, पेंशन प्लान के आधार पर उसकी पेंशन निर्धारित होगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button