हेल्थ

जल्‍दी करना है वेट लॉस तो समझें डाइट और वर्कआउट के बीच के इस जरूरी कनैक्‍शन को

यहां हैं जल्‍दी वेट लॉस के लिए जरूरी कुछ ध्‍यान रखने योग्‍य बातें।

आप जो कुछ भी खाते हैं उसका असर आपके वजन पर पड़ता है। इसी तरह सही वजन बनाए रखने के लिए वर्कआउट करना भी बहुत जरूरी है। पर अगर इन दोनों चीजों का ध्‍यान रखकर भी आपका वजन नियंत्रित नहीं हो रहा है तो आपको डाइट और वर्कआउट के कनैक्‍शन को समझना होगा। यहां हैं जल्‍दी वेट लॉस के लिए जरूरी कुछ ध्‍यान रखने योग्‍य बातें।

यह बात सच है कि लोग खाने और पीने के रूप में जितनी कैलोरी लेते हैं उसका सीधा असर उनके वजन पर पड़ता है।यदि हम उतनी ही कैलोरी लें जितनी शरीर इस्तेमाल करता है, तो हमारा वजन स्थिर रहेगा। जबकि हम यदि कम कैलोरी लेंगे तो वजन कम हो जाएगा। भोजन और व्यायाम दोनों एक-दूसरे से जुड़े हैं। आप कब और क्या खाते हैं यह बहुत महत्वपूर्ण है।

यूके में एक अध्ययन किया गया जिसमें 30 मोटे या अधिक वजन वाले पुरुषों पर छह हफ्ते तक निगाह रखी गई। जिन लोगों ने नाश्ता करने से पहले व्यायाम किया, उन्होंने व्यायाम से पहले नाश्ता करने वाले लोगों की तुलना में दोगुना फैट कम किया। इसका एक पहलू यह है कि व्यायाम के पहले कुछ खाने की तुलना में बिना कुछ खाए व्यायाम करने पर शरीर पहले से जमा तत्वों का बेहतर इस्तेमाल करता है।

क्‍यों ज्‍यादा बेहतर है खाली पेट एक्‍सरसाइज करना

व्यायाम से पहले कुछ न खाने पर शरीर को पहले से जमा कार्बोहाइड्रेट का इस्तेमाल करना पड़ता है और इस कार्बोहाइड्रेट का इस्तेमाल करने के बाद शरीर फैट कोशिकाओं का इस्तेमाल शुरू कर देता है।यदि आपका लक्ष्य शरीर से फैट की ज्यादा मात्रा खत्म करना है, तो स्टेडी-स्टेट या फास्टेड स्टेट में इंटरवलकार्डियो ट्रैनिंग सबसे अच्छा तरीका है।

खाना खाने के बाद व्‍यायाम के नुकसान

पूरा भोजन खाने के बाद आपको व्यायाम नहीं करना चाहिए। इससे आपको ब्लोटिंग या मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या हो सकती है। यदि आप बहुत ज्यादा व्यायाम करने की योजना बना रहे हैं, तो व्यायाम से पहले कुछ खाने से आपकी ऊर्जा बनी रहेगी और आप गतिशील बने रहेंगे। खाली पेट व्यायाम करना अच्छा है लेकिन कभी-कभी इस पर ध्यान देना चाहिए कि आप किस प्रकार का व्यायाम करने जा रहे हैं।

व्यायाम करने से 30 से 45 मिनट पहले कम फाइबर, कम फैट और हाई- कार्बोहाइड्रेट वाले स्नैक्स खाना बेहतर होता है। इनमें दही, फल, ग्रेनोला, पीनट बटर, या गेंहू से बना टोस्ट शामिल हो सकता है।

व्‍यायाम के बाद ऐसी हो डाइट

व्यायाम करने से 1 से 4 घंटे पहले और व्यायाम करने के लगभग 60 मिनट के बाद ऐसा खाना लें जिसमें प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का मेल हो। यदि आप 60 मिनट से कम व्यायाम करते हैं तो हो सकता है कि आपको भूख लगने की परेशानी न हो। यदि आप 60 मिनट से ज्यादा व्यायाम करते हैं तो कसरत के दौरान कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन या पेय पदार्थ लेने से आपको फायदा हो सकता है।

अपनी मांसपेशियों को रिकवर करने और उनके ग्लाइकोजन स्टोर को फिर से भरने में सहायता करने के लिए अगर हो सके तो व्यायाम करने के एक घंटे के भीतर ऐसा भोजन लें जिसमें कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन दोनों शामिल हों। व्यायाम के बाद भोजन के अच्छे विकल्पों में शामिल है:

दही और फल
पनीर सैंडविच
कम फैट वाले मिल्कशेक और छाछ
स्मूदी
सब्जियों के साथ होल-ग्रेन ब्रेड
अंडे

भोजन और व्यायाम के मामले में हर कोई अलग होता है। इसलिए इस बात पर ध्यान दें कि आप अपने व्यायाम और पूरे प्रदर्शन को लेकर कैसा महसूस करते हैं। अपने अनुभव से सीखें कि व्यायाम के पहले या बाद में खाने से जुड़ी कौन सी आदत आपके लिए बेहतर है।

जानिए वेट लॉस का सबसे अच्‍छा तरीका

सबसे अच्छा तरीका वही है जो आपकी जीवनशैली के अनुकूल हो और जिसे आप आसानी से कर पाएं। अगर आप सुबह जल्दी व्यायाम करते हैं, तो आपको व्यायाम से पहले नाश्ता करके कुछ देर रुकने में मुश्किल हो सकती है। उस स्थिति में खाली पेट व्यायाम करना ही बेहतर है। अगर आप दिन में देरी से ट्रैनिंग कर रहे हैं, तो अगर आप पूरा भोजन लेने के बाद उसे पचने का समय देने के बाद व्यायाम करें तो आपके लिए बेहतर होगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button