अश्विन-जडेजा की अनदेखी बार-बार हो रही

नई दिल्ली : भारतीय चयनकर्ताओं ने न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी श्रंखला के लिए टीम इंडिया का चयन कर लिया है. सबसे चौंकाने वाला फैसला यही रहा कि इसमें एक बार फिर से टीम इंडिया के शीर्ष स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और ऑल राउंडर रवींद्र जडेजा को टीम में जगह नहीं मिली. ये दोनों क्रिकेटर इस समय रणजी ट्रॉफी में खेल रहे हैं. अश्विन तो यो यो टेस्ट भी पास कर चुके हैं.लेकिन टीम मैनेजमेंट उन्हें टीम में शामिल नहीं कर रहा है. रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की चयनकर्ताओं ने लगातार तीसरी बार अनदेखी की.

चयनकर्ताओं ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिये युवा खिलाड़ियों के साथ बरकरार रहने का फैसला किया. दोनों खिलाड़ियों के बाहर रखने पर फिर से यही कहा गया कि उन्हें आराम दिया गया है. टीम के चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने शुरू में कहा था कि सीनियर गेंदबाजों को श्रीलंका के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज के दौरान आराम दिया गया था, लेकिन आस्ट्रेलिया और अब न्यूजीलैंड के खिलाफ भी उनकी अनदेखी होना संकेत हैं कि जहां तक सीमित ओवरों के क्रिकेट का संबंध है, वे धीरे धीरे उनकी पसंद के दायरे से बाहर हो रहे हैं. ऐसा लगता है कि भारत ने 2019 विश्व कप की अपनी तैयारियां सही दिशा में बढ़ानी शुरू कर दी हैं.

भारत के पहले चाइनामैन कुलदीप यादव के अलावा अक्षर पटेल और युजवेंद्र चहल ने पिछली सीरीज में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. इससे माना जा रहा है कि अब अश्विन और जडेजा को न्यूजीलैंड वनडे में वापस लाना मुश्किल था. इससे कहीं न कहीं दोनों क्रिकेट खिलाड़ियों के भविष्य पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं.

जडेजा ने आज जम्मू कश्मीर के खिलाफ रणजी ट्राफी मैच में सौराष्ट्र के लिये 150 रन की पारी खेली, लेकिन इस समय वह निराश होंगे, क्योंकि उन्हें टीम इंडिया से एक बार फिर से बाहर रखा गया है.अश्विन के लिये शनिवार का दिन अच्छा नहीं रहा . उन्होंने रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट की कमजोर मानी जा रही टीम त्रिपुरा के खिलाफ 24 ओवर फेंके और 60 रन देकर एक विकेट लिया.

Back to top button