नदी से रेत का अवैध उत्खनन, अचानक आई बाढ़, बह गए 4 ट्रैक्टर

बैकुंठपुर।

ग्राम पंचायत लाई स्थित नदी-नाले से प्रतिबंध के बाद भी चोरी-छिपे रेत उत्खनन किया जा रहा था। इसी दौरान हसदेव नदी में अचानक बाढ़ आ गई और 4 ट्रैक्टर बह गए। वहीं ड्राइवर और मजदूरों ने अपनी जान बचाकर भागे।

कोरिया जिला प्रशासन द्वारा ग्राम पंचायत लाई में आवंटित खदान से रेत उत्खनन करने 4 ट्रैक्टर हसदेव नदी में उतरा था। इस दौरान ड्राइवर टैक्टर को खड़ा कर मजदूरों से रेत लोड करवा रहा था। दोपहर करीब 3-4 बजे के बीच हसदेव नदी में अचानक बाढ़ आई गई। इससे चार टैक्टर पानी में डूब गया और कुछ ट्रैक्टर बहकर काफी दूर तक चले गए।

वहीं ड्राइवर व मजदूर बाढ़ को देखकर जैसे-तैसे जान बचाकर नदी किनारे पहुंचने में कामयाब हो गए। ग्रामीणों का कहना है कि पोंड़ी निवासी राजकुमार के 2 ट्रैक्टर, सेंधा निवासी नारायण सरोला व हालात का एक-एक ट्रैक्टर डूब गया है।

खनिज विभाग की लापरवाही आई सामने

खनिज विभाग के अनुसर कोरिया के करीब 36 रेत खदान से उत्खनन पर चार महीने तक प्रतिबंध लगा है। प्रबंधित अवधि 16 जून से 15 अक्टूबर तक होगी। इस दौरान रेत खनन करने वालों पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी गई थी। लेकिन खनिज विभाग की लापरवाही के कारण ग्रामीण अंचल के नदी-नाले से लगातार रेत उत्खनन जारी है।

Back to top button