छत्तीसगढ़

महानदी के तटीय ग्राम पंचायतों में धड़ल्ले से चल रहा बालू का अवैध उत्खनन

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़: बरमकेला ब्लाक में महानदी के तटीय ग्राम पंचायतों में बालू अवैध उत्खनन के मामले में पिहरा, नदीगाव, पोरथ, तोरा, प्रमुख केंद्र है। जहां सरपंच सचिव एवं पंचों की जानकारी में अवैध रेत परिवहन का कारोबार फल-फूल रहा है। जनप्रतिनिधि, सचिव और उच्चाधिकारियों को भी जानकारी में सारा खेल चल रहा है।

नवगठित पंचायत तोरा में पंचायत के पहुंचने से पहले जगह-जगह आपको बालू दम किया हुआ दिख सकता है ।जबकि बालू के उत्खनन कर परिवहन करने के लिए पंचायत द्वारा न तो किसी को अनुमति है, ना ही किसी प्रकार का प्रस्ताव किया गया है। और ना ही पंचायत में किसी प्रकार का राजस्व प्राप्त होता है।

कई पंचायतों से तो बालू के साथ-साथ गौण खनिज ( क्रेशर पत्थर) का भी दोहन हो रहा है ।पूरी जानकारी होने के बावजूद भी जनप्रतिनिधि एवं अधिकारियों द्वारा ना तो इस विषय पर कार्यवाही ना करना तथा जिस तरह की चुप्पी साधे है एक तरह से मौन स्वीकृतिृ की ओर इशारा करता है।

Tags
Back to top button