अवैध प्लाटिंग : कॉलोनाइजर एक्ट के तहत तीन जमीन मालिकों पर मामला दर्ज

मोपका के आठ एकड़ में अवैध प्लाट्रिंग कर चल रहा था करोड़ों का खेल

बिलासपुर: बिना अनुमति खेतिहर जमीन की अवैध प्लाटिंग करने वाले तीन लोगों के खिलाफ राजस्व विभाग की कार्यवाही से जमीन दलाली से जुड़े लोगों में खलबली मची हुई है। मोपका के आठ एकड़ में अवैध प्लाट्रिंग के मामले में राजस्व विभाग ने बड़ी कारवाई करते हुए तीन जमीन मालिकों के खिलाफ कॉलोनाइजर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। अगले कुछ दिनों में पूरी प्लाटिंग रद्द होने की बात भी कही जा रही है।

विभाग ने राजस्व रिकार्ड में इन खेतिहर जमीन के मालिक श्रीमती चुन्नीलाल शर्मा, छबिलाल बिसी और रेसू सराफ को नोटिस जारी करते हुए आउट पास होने के साथ ही टाउन एंड कंट्री प्लानिंग की अनुमति संबंधी दस्तावेज मांगें हैं।

बता दें कि मोपका मेन रोड स्थित तालाब के पीछे 8 एकड़ जमीन पर अवैध तरीके से प्लानिंग कि जा रही है। खसरा नंबर 2112, 2114, 2118, 2105, 2102, 2109, 2120 में बिना लेआउट 100 से अधिक प्लॉट काट दिए गए हैं। राजस्व रिकार्ड्र में इन खेतिहर जमीन के भू स्वामी श्रीमती चुन्नीलाल शर्मा, छबिलाल बिसी और रेसू सराफ हैं। कुछ लोगों ने इनसे प्लॉटिंग के लिए जमीन ले ली और खुलेआम अवैध प्लॉट की बिक्री की जाने लगे। प्लॉटिग करने वालों ने बकायदा अपना फोन नंबर भी प्लाट खरीदने के लिए शहर में चस्पा कर दिया है। इन्हीं नंबरों पर प्लॉट खरीदने के लिए संपर्क करने कहा जा रहा है।

एकड़ के भाव एग्रीमेंट, वर्गफीट में बेच रहे हैं दलाल

बताता गया है कि जमीन दलालों ने असली भू स्वामियों से एकड़ के भाव में जमीन का एगी्रमेंट किया और उसे वर्गफीट के हिसाब से बेचते हुए करोड़ो रुपए का चूना सरकार को लगा रहे हैं। जमीन दलालों यहां 2 हजार वर्गफीट से लेकर 2400 वर्गफीट के यहां प्लांट लोगों को धोखे में रखकर अवैध तरीके से बेच रहे हैं। जमीन का कीमत दलालों ने 600 से लेकर 700 रुपए वर्ग फीट के भाव बेची जा रही है।

Back to top button