अमरीका ने बढाया तुर्की से होने वाले दो उत्पादों के आयात शुल्क

अमरीका पर तुर्की की पीठ में छुरा भोंकने का आरोप लगाया था.

वाशिंगटन : तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने अमरीका पर तुर्की की पीठ में छुरा भोंकने का आरोप लगाया था. जिसका बदला लेते हुए अमेरिका ने तुर्की से होने वाले एल्युमीनियम और स्टील उत्पादों के आयात पर शुल्क बढ़ा दिया है.

उन्होंने कहा, ”एक तरफ़ आप हमारे कूटनीतिक सहयोगी होने का दावा करते हैं, दूसरी तरफ़ आप हम पर हमला करने जा रहे हैं? यह अस्वीकार्य है. हम अफ़गानिस्तान, सोमालिया और नैटो में आपके साथ काम कर रहे हैं और अचानक एक सुबह आप हमारी पीठ में छुरा घोंप देते हैं. यह मंजूर नहीं होगा.”

व्हाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार केविन हैसेट का कहना है कि तुर्की में अमरीकी एल्युमीनियम और स्टील सेक्टर बहुत छोटा है इसलिए वहां के आर्थिक संकट के लिए ट्रंप प्रशासन के फ़ैसले को ज़िम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए. आर्थिक मामलों के संवाददाता भी इससे इत्तेफ़ाक रखते हैं. उनका कहना है कि तुर्की अपने बाजारों पर काबू करने में बुरी तरह नाकाम रहा है.

हालांकि के तुर्की के केंद्रीय बैंक के कुछ फ़ैसलों से लीरा पर दबाव आंशिक रूप से कम हुआ है. वहीं, सरकार समर्थक कुछ कारोबारी उन लोगों को खरीदारी में छूट दे रहे हैं जिन्होंने लीरा को डॉलर, यूरो या सोने से बदला है.

पिछले हफ़्ते लीरा की गिरती क़ीमत से चिंतित अर्दोआन ने तुर्की के लोगों से लीरा के बदले विदेशी मुद्रा बदलने की भावुक अपील की थी.

तुर्की को जर्मनी का समर्थन

इस बीच जर्मनी भी तुर्की के समर्थन में उतर आया है. जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल ने कहा कि तुर्की की अर्थव्यवस्था चरमराने से किसी को कोई फ़ायदा नहीं होगा.

उन्होंने कहा, ”अगर यूरोपीय संघ के आस-पास स्थिर आर्थिक माहौल होता है तो हमें इसका फ़ायदा मिलता है इसलिए हम सबको ऐसा माहौल बनाने में मदद देनी चाहिए. जर्मनी तुर्की को आर्थिक रूप से समृद्ध देश के तौर पर देखना चाहेगा. इसमें हमारी भी भलाई है.”

अमरीका ने पिछले हफ़्ते तुर्की से आयातित स्टील और एल्युमिनियम उत्पादों पर लगने वाला कर बढ़ाकर दोगुना कर दिया था और इसके बाद तुर्की की मुद्रा लीरा में रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई थी.

Tags
Back to top button