कलेक्टर की बैठक में लॉकडाउन को लेकर अहम फैसला!

गुपचुप, चाट, फुटपाथ वेंडर और दुकानदारों का होगा कोरोना टेस्ट

कोरिया। कोरिया जिले में व्यापारियों और कलेक्टर की बैठक में फैसला लिया गया है कि फिलहाल लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा, लेकिन मास्क और वैक्सीनेशन को लेकर सख्ती की जाएगी, जिले के बॉर्डर पर भी और सख्ती बरती जाएगी। इसके साथ यह भी तय किया गया है कि कोविड कंट्रोल रूम फिर से शुरू होगा, बैठक में वैक्सीनेशन सेंटर बढ़ाने पर भी जोर दिया गया है।

इस फैसले के बाद फिलहाल कोरिया जिले में अभी तक लॉकडाउन की संभावना बनती नजर नहीं आ रहा है। पहले यह आशंका व्यक्त की जा रही थी कि जिले में दो दिनों से लेकर एक सप्ताह तक का लॉकडाउन लगाया जा सकता है। लेकिन आज बैठक में जिले भर के व्यापारियों ने कलेक्टर एसएन राठौर से लॉक डाउन नहीं करने की बात कही। कलेक्टर बैठक में चैंबर, कैट, चिरमिरी व्यापारी संगठन, बैकुंठपुर के व्यापारी संगठन, राजनैतिक दलों के लोग भी मौजूद रहे।

कलेक्टर ने भी उनसे सहमति जाहिर करते हुए कहा कि फिलहाल जिले में लॉकडाउन जैसी स्थिति तो नजर नहीं आ रही है लेकिन अगर इसी तरह लापरवाही और कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ता रहा तो भविष्य में लॉकडाउन की स्थिति से इनकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प है। बैठक में दुकानदारों के साथ ग्राहकों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर आदि की व्यवस्था रखने का भी निर्देश दिया गया।

इसके अलावा सप्ताहिक बाजार भी कई हिस्सों में अलग अलग जगह लगाने की बात कही गई है। बैठक में यह भी बताया गया कि समय समय पर रैंडमली गुपचुप, चाट, फुटपाथ वेंडर व दुकान वालों का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। कलेक्टर ने यह भी कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार लोग कोविड गाइड लाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। यही वजह है कि पिछले 1 सप्ताह में कोरिया जिले में कोरोना केस लगातार बढ़ते हुए दिख रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना वायरस की चैन को तोड़ने के लिए भविष्य में मजबूरन लॉकडाउन लगाया जा सकता है। ऐसे में जरूरी है कि जरूरी गाइडलाइन का सभी लोग पालन करें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button