देश और दुनिया के इतिहास में शामिल महत्वपूर्ण घटनाएं

बंगाल के पहले विभाजन को 1905 में भारतीय सचिव ने मंजूरी दी

देश और दुनिया के इतिहास में की तरह की महत्वपूर्ण घटनाएं शामिल है,जिनमें अलाउद्दीन खिलजी ने 1296में स्वयं को दिल्ली का सुल्तान घोषित किया। बंगाल के पहले विभाजन को 1905 में भारतीय सचिव ने मंजूरी दी।

रॉबर्ट द्वितीय के उत्तराधिकारी हेनरी प्रथम ने 1031 में स्पेन के राजा के रूप में पदभार संभाला।

अलाउद्दीन खिलजी ने 1296में स्वयं को दिल्ली का सुल्तान घोषित किया।

एंग्लो-पुर्तगाल संधि के तहत 1654 में पुर्तगाल इंग्लैंड के अधीन हुआ।

माधव राव 1761 में प्रथम पेशवा बने।

कोलंबिया ने 1810 में स्पेन से आजाद होने की घोषणा की।

जर्मनी के खगोलशास्त्री थियोडोर ने 1847 में धूमकेतु ब्रोरसेन-मेटकॉफ का पता लगाया।

फोर्ड मोटर कंपनी ने 1903 में अपनी पहली कार बाजार में उतारी।

बंगाल के पहले विभाजन को 1905 में भारतीय सचिव ने मंजूरी दी।

पन्चो विला की 1923 में हत्या कर दी गई।

सोवियत खेल समाचार पत्र सोवत्सकी स्पोर्ट् की स्थापना 1924 में हुई।

लंदन में 1933 को यहूदी विरोधी भावना के खिलाफ पांच लाख लोगों ने रैली निकाली।

जापान के नाम वापिस लेने के बाद 1938 में फिनलैंड को 1940 में ओलंपिक खेलों की मेजबानी सौंपी गई।

अमेरिका ने 1944 में जापान के कब्जे वाले गुआम पर हमला किया।

जार्डन के शाह किंग अब्दुल्ला प्रथम पर यरुशलम में 1951 को किये गये हमले में मारे गये।

फ्रांस ने 1956 में ट्यूनिशिया को स्वतंत्र देश घोषित किया।

सिलॉन की राष्ट्रपति श्रिमावो भंडार नायके 1960 में विश्व की प्रथम महिला राष्ट्रपति निर्वाचित हुई।

17 अफ्रीकी देशों और मदगास्कर ने 1963 में यूरोपियन परिषद् के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए।

मानव ने 1969 में चंद्रमा की सतह पर पहला कदम रखा था. एस्‍ट्रोनॉट नील आर्मस्ट्रांग ने इस इतिहास को रचा था.

तुर्की के हजारों सैनिकों ने 1974 में ग्रीस की राजधानी एथेंस में चल रही बातचीत के विफल रहने पर उत्तरी साइप्रस पर हमला कर दिया था।

सूचना की स्वतंत्रता अधिनियम के अंतर्गत अमेरिकी जाँच संस्था सीआईए द्वारा 1977 में जारी किए गए दस्तावेज में स्वीकार किया गया की वह मस्तिष्क नियंत्रण प्रयोगों में शामिल रहे हैं।

वर्मा की सेना समर्थित सरकार ने 1989 में विपक्षी नेता आंग सांग सूकी को उनके घर में कैद कर दिया। वे पिछले 20 वर्षों में लगभग 14 वर्ष गृह कैद रही हैं।

Back to top button