छत्तीसगढ़

कार्पोरेट सेक्टर में कम्पनी सचिव की महत्वपूर्ण भूमिका : राज्यपाल

रायपुर : कम्पनी सचिव की भूमिका कार्पोरेट सेक्टर में महत्वपूर्ण होती है। कम्पनी का नियंत्रण कम्पनी के मालिक करते हैं लेकिन कम्पनी सचिव कम्पनी को नियमों की चार दीवारी में रखते हुए काम कराते हैं। ये बातें बुधवार को राज्यपाल बलराम दास टंडन ने कही।
राज्यपाल टंडन बुधवार शाम राजधानी में भारतीय कम्पनी सचिव संस्थान के गोल्डन जुबली समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर भारतीय प्रंबंधन संस्थान रायपुर के डायरेक्टर डॉ. भारत भास्कर, सारडा एनर्जी के डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर पंकज सारडा, रायपुर चेप्टर के चेयरमैन वायसी राव और सचिव अभिषेक जैन सहित बड़ी संख्या में कम्पनी सचिव उपस्थित थे।
राज्यपाल ने कहा कि कम्पनी सचिव कम्पनी के चेयरमेन और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को इस बात की जानकारी देते हैं कि कम्पनी में नियमों का पालन हो रहा है या नहीं, नियामों के पालन नहीं होने पर खामियाजे की भी जानकारी देते हैं। वे कम्पनी के हित के साथ ही शेयर होल्डर्स के हितों का भी ध्यान रखते हैं तथा कम्पनी के साथ ही केन्द्र और राज्य सरकार के नियमों के परिपालन के संबंध में नियमित रूप से अवगत कराते रहते हैं। इसी प्रकार कम्पनी को एक अनुशासन में चलाना, आने वाले जोखिमों से भी अवगत कराना उनकी जवाबदारी है, जिससे कम्पनी को लाभ मिले। उन्होंने भारतीय कम्पनी सचिव संस्थान की गोल्डन जुबली समारोह के लिए अपनी शुभकामनाएं दी।
भारतीय प्रबंधन संस्थान के डायरेक्टर डॉ. भारत भास्कर ने कम्पनी सचिव की भूमिका की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि कम्पनी सेक्रेटरी को एक कम्पनी के भीतर गोपनीयता और पारदर्शिता के बीच संतुलन बनाकर कार्य करना पड़ता है। स्वागत भाषण में रायपुर चेप्टर के चेयरमैन वाय सी राव ने कहा कि रायपुर चेप्टर की शुरुआत 1998 में पांच कम्पनी सचिव के साथ हुई थी। आज इस संस्थान के ढाई सौ मेम्बर हैं। भारतीय कम्पनी सचिव संस्थान के 50 वर्ष पूर्ण होने पर रायपुर सहित देश के 72 सेन्टरों में गोल्डन जुबली समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर नई दिल्ली के विज्ञान भवन में संस्थान की गोल्डन जुबली समारोह का शुभारंभ अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उद्बोधन का प्रसारण किया गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.