अंतर्राष्ट्रीयबड़ी खबर

इमरान खान कश्मीर और भारत विरोध की अपनी रणनीति पर ही अटक कर रह गए

पीएम नरेंद्र मोदी बन गए Global Leader

संयुक्त राष्ट्र की जनरल एसेंबली (UNGA) को संबोधित करने के दौरान पाकिस्तान के पीएम इमरान खान कश्मीर और भारत विरोध की अपनी रणनीति पर ही अटक कर रह गए, जबकि भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान का नाम तक नहीं लिया. पाकिस्तान का नाम न लेकर ऐसा नहीं कि पीएम नरेंद्र मोदी ने उसे बख्श दिया, बल्कि अपने संबोधन में उसका नाम लेने लायक ही नहीं समझा. एक तरह से पीएम नरेंद्र मोदी ने यह जता दिया कि पाकिस्तान की उससे कोई तुलना ही नहीं है. पाकिस्तान खून-खराबा और मानवता को नुकसान पहुंचाने के लिए काम करता है, जबकि भारत दुनिया को राह दिखाने का काम करता है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा कि भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं, बल्कि बुद्ध दिया है. दूसरी ओर, इमरान खान अनुच्छेद 370 के खात्मे का विरोध करने में यह भी भूल गए कि संयुक्त राष्ट्र के मंच से खूनखराबा कराने की धमकी देना उनके लिए कितना आत्मघाती हो सकता है.

इमरान खान ने ‘इस्लामोफोबिया’ का हौव्वा खड़ा करने के लिए पश्चिम के विकसित राष्ट्रों को ‘दोष’ देते हुए कहा कि यह दुर्भाग्य है कि अमेरिका में हुए आतंकी हमले के बाद समूचे विश्व ने कट्टरपंथी तत्वों को इस्लाम से जोड़कर रख दिया. किसी ने भी यह सोचने की जरूरत नहीं समझी कि इससे काफी पहले जो पहला आत्मघाती आतंकी हमला हुआ था, वह ‘हिंदुओं’ ने किया था.

इस्लामिक राष्ट्र

इमरान खान ने यह भी कहा कि एक भी इस्लामिक राष्ट्र ने यह कहने का साहस नहीं दिखाया कि चरमपंथी हर धर्म में होते हैं. चाहे वह ईसाई हो, यहूदी हो या फिर हिंदू हों. ठीक वैसे ही इस्लाम में भी चरमपंथी सामने आते गए लेकिन उसके लिए पूरी कौम को कठघरे में खड़ा करना उचित नहीं.

दूसरी ओर,पीएम मोदी ने कहा कि जब एक विकासशील देश, दुनिया का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान सफलतापूर्वक संपन्न करता है. सिर्फ 5 साल में 11 करोड़ से ज्यादा शौचालय बनाकर अपने देशवासियों को देता है, तो उसके साथ बनी व्यवस्थाएं पूरी दुनिया का एक प्रेरक संदेश देती है. जब एक विकासशील देश, दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इश्योरेंस स्कीम सफलतापूर्वक चलाता है. 50 करोड़ लोगों को हर साल 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा देता है. तो उसके साथ बनी संवेदनशील व्यवस्था, पूरी दुनिया को एक नया मार्ग दिखाती है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, जब 5 साल में 37 करोड़ से ज्यादा गरीबों के बैंक खाते खोलता है, तो उसके साथ बनी व्यवस्थाएं पूरी दुनिया के गरीबों में एक विश्वास पैदा करती है. सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करने के लिए बड़ा अभियान चला रहे हैं.मैंने यहां आते वक्त संयुक्त राष्ट्र की इमारत की दीवार पर पढ़ा नो मोर सिंगल यूज.

पीएम मोदी ने कहा, ‘भारत हजारों वर्ष पुरानी एक महान संस्कृति है जिसकी जीवंत परंपराएं हैं जो वैश्विक सपनों को अपने में समेटे हुए हैं. हमारे संस्कार, हमारी संस्कृति जीव में शिव देखती है. भारत ने बीते पांच वर्षों में सदियों से चली आ रही है विश्व बंधुत्व और विश्व कल्याण की उस महान परंपरा को मजबूत करने का काम किया.

Tags
Back to top button