2019 चुनावों में कांग्रेस ने अोबीसी मतदाअों के लिए बनाई ये रणनीति

कुछ महीने के भीतर बूथ स्तर तक पार्टी का ओबीसी संगठन तैयार करने की तैयारी में है

कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अन्य पिछड़े वर्गों को अपने साथ जोड़ने के मकसद से अगले कुछ महीने के भीतर बूथ स्तर तक पार्टी का ओबीसी संगठन तैयार करने की तैयारी में है.

हाल ही में दिल्ली में राष्ट्रीय अन्य पिछड़ा वर्ग सम्मेलन का आयोजन करने वाला, पार्टी का ओबीसी विभाग, निचले स्तर तक संगठन तैयार करने में फिलहाल सबसे ज्यादा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में ध्यान केंद्रित कर रहा है जहां कुछ महीने बाद ही विधानसभा चुनाव होना है.

ओबीसी विभाग का कहना है कि वह बूथ स्तर पर संगठन तैयार करने के साथ ही अन्य पिछड़े वर्गों की सभी जातियों को अपने बूथ, ब्लॉक, जिला एवं प्रदेश के स्तर के संगठनों में समुचित प्रतिनिधित्व देगा. कांग्रेस के ओबीसी विभाग के अध्यक्ष और सांसद ताम्रध्वज साहू ने बताया, ‘‘हम ओबीसी समाज की सभी जातियों और समूहों तक तभी पहुंच सकते हैं जब हमारे पास संगठन होगा. राष्ट्रीय, प्रादेशिक और जिला स्तर के साथ ही हमें बूथ स्तर पर भी ओबीसी समाज को ध्यान में रखते हुए संगठन बनाना पड़ेगा. हम इसी दिशा में काम कर रहे हैं’.

ताम्रध्वज साहू ने कहा, ‘‘हमारा ओबीसी विभाग स्थानीय स्तर के संगठन तथा पार्टी के मुख्य संगठन के साथ मिलकर काम करेगा’’. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि, ‘‘स्थानीय स्तर के संगठनों के निर्माण का काम तेजी से चल रहा है और आशा है कि अगले कुछ महीने के भीतर हम देश भर में संगठन बना लेंगे.

पहले मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में संगठन निर्माण का काम पूरा होगा’’. उन्होंने कहा, ‘‘ओबीसी में कई ऐसी जातियां हैं जिनको राजनीतिक प्रतिनिधित्व नहीं मिल पाया है. हम इन सभी जातियों को अपने संगठन में प्रतिनिधित्व देंगे’’. गौरतलब है कि 11 जून को राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि पार्टी के संगठन में ओबीसी समाज के लोगों को उचित प्रतिनिधित्व मिलेगा.

Back to top button