बचत के अलावा इन पर करें निवेश मिलेगा दमदार रिटर्न

बैंक आटो स्वीप या टू इन वन एफडी की सुविधा

नई दिल्ली। अधिकाश लोग अपने पैसों को कई जगह पर निवेश करते हैं। लेकिन निवेश में वह पैसों को बचत में रखना ज्यादा सुरक्षित मानते हैं। आज के समय में बढ़ती मंहगाई ब्याजदरों को कम कर रही है।

अगर अभी ध्यान दे तो बैकों में ब्याज दर 6.5 प्रतिशत से भी कम है। इसकी वजह से आपको ज्यादा मुनाफा मिल पाना मुश्किल है। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे रिटर्न वाले निवेश के बारे में बताने जा रहे,जिसमें आपको ज्यादा रिटर्न देगा……………

बैंक डिपॉजिट (एफडी)-

एफडी पर मिलने वाले निश्चित रिटर्न और सुरक्षा को देखते हुए निवेशकों के बीच यह लोकप्रिय विकल्प है। डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (डीआइसीजीसी) के नियमों के तहत प्रत्येक बैंक के जमाकर्ता को एक लाख रुपये तक का बीमा मिलता है।

जरूरत अनुसार, व्यक्ति ब्याज के लिए मासिक, तिमाही, छमाही, वार्षिक या क्यूम्यलटिव विकल्प का चयन कर सकता है। मिलने वाला ब्याज व्यक्ति की आय में जुड़ता है

और इनकम स्लैब के हिसाब से टैक्स लगाया जाता है। मौजूदा समय में अधिकांश बैंक 6.5 फीसद से 7.5 फीसद के बीच ब्याज देते हैं।

ऑटो स्वीप-

साधारण बचत खाते की रकम को बढ़ाने के लिए कई बैंक आटो स्वीप या टू इन वन एफडी की सुविधा देते हैं। इसके तहत अगर आपके खाते में एक सीमा से अधिक धन जमा हो जाता है, तो बैंक खुद ही इस रकम को एफडी में बदल देता है।

इस तरह आप अपनी रकम पर बचत खाते की तुलना में काफी ज्यादा ब्याज हासिल कर सकते हैं। ऐसे खातों में फिक्स्ड डिपॉजिट का रिटर्न मिलता है और बचत खाते की तरह अपनी जरूरत के अनुसार पैसे निकालने की सुविधा भी रहती है।

पोस्ट ऑफिस स्कीम-

छोटी बचत योजनाएं जैसे पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ), नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट्स (एनएससी), सीनियर सिटिजन सेविंग्स स्कीम, सुकन्या समृद्धि आदि फिक्स्ड इनकम इंवेस्टमेंट के चलते लोकप्रिय हैं।

सरकार हर तिमाही के शुरुआत में इन योजनाओं पर ब्याज दर तय कर देती है। इन पर मिलने वाला रिटर्न बैंक डिपॉजिट की तुलना में ज्यादा होता है।

गोल्ड में निवेश-

गोल्ड पर मिलने वाला रिटर्न अस्थिर हो सकता है और फिर कई वर्षों तक स्थिर रह सकता है। निवेश के लिहाज से अगर कोई उपभोक्ता सोने के गहने खरीदता है तो उसे दोहरा नुकसान होता है।

ऐसा इसलिए क्योंकि गहने खरीदते समय ज्वैलर्स मेकिंग और वेस्टेज चार्जेस जोड़ देते हैं और जब इन्हीं गहनों को ग्राहक बाजार में वापस बेचने जाते हैं

इक्विटी म्युचुअल फंड्स-

म्युचुअल फंड निवेश के लिए बेहतर विकल्प माना जाता है। इसमे सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) के जरिए निवेश करने की प्रक्रिया काफी सरल है। इस पर मिलने वाला रिटर्न बाजार में उपलब्ध निवेश के अन्य विकल्पों की तुलना में ज्यादा होता है।

Back to top button