मध्यप्रदेशराज्य

बुंदेलखंड में कोरोना मरीजों को लगातार करना पड़ रहा अव्यवस्थाओं का सामना

एक दिन में 500 रुपए प्रति मरीज के हिसाब से डाइट पर खर्च

सागर: बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में भर्ती कोरोना मरीज को एक समय में 150 रुपए थाली के हिसाब से भोजन दिया जा रहा है। दो टाइम का मिलाकर करीब 300 रुपए का, लेकिन भोजन की गुणवत्ता 50 रुपए के खाने के बराबर भी नहीं है।

इसके अलावा मरीजों को फल, दूध और जूस आदि दिया जा रहा है। जिस पर 200 रुपए दिन का खर्च हो रहा है। यानी एक दिन में 500 रुपए प्रति मरीज के हिसाब से डाइट पर खर्च किया जा रहा है।

वहीँ फफूंद लगा भोजन दिए जाने का मामला उजागर हुआ है। यह खुलासा एक वीडियो के जरिए हुआ, वीडियो में कोरोना पीड़ित महिला फफूंद लगा खाना दिखाकर चिल्लाकर कह रही कि आप लोग खाना नहीं खिला सकते तो सीधा बता दो, हम घर से बुलवा लेंगे, हमारे घर वाले एक साल तक खाना खिला सकते हैं। लेकिन हमें इतना घटिया खाना देकर मत मारो।

20 से अधिक मरीजों ने भोजन नहीं किया

मैं इसकी शिकायत अधिकारियों से करूंगी। महिला के खाने में फफूंद मिलने के बाद 20 से अधिक मरीजों ने भोजन नहीं किया। मामले की जानकारी मिलने के बाद देर शाम बीएमसी प्रबंधन और जिला पंचायत के अफसरों ने इसे साजिश बताते हुए कहा कि वीडियो में दिखाई थाली दो दिन पहले का मैन्यू है। लेकिन थाली कब और कहां से आई इस संबंध में अब भी पड़ताल जारी है।

बीएमसी डीन डॉ. जीएस पटेल का कहना है कि वीडियो साजिश के तहत बनाया गया है। सोमवार को खाने के मैन्यू में कद्दू की सब्जी थी, लेकिन वीडियों में आलू और भिंडी की सब्जी दिख रही है। जो कि 30 मई के मैन्यू में थी।

जिला पंचायत सीईओ डॉ. इच्छित गढ़पाले का कहना है कि वीडियो में भोजन की जो थाली दिखाई जा रही है, वह 30 मई का मैन्यू है। सोमवार को बीएमसी के अलावा सभी क्वारेंटाइन सेंटरों पर भी थालियां दी गईं, लेकिन शिकायत नहीं मिली है। यह किसी का षड़यंत्र है। जांच कराई जा रही है।

सीएमएचओ डॉ. इंद्राज सिंह ठाकुर का कहना है कि मुझे मामले की जानकारी मिली है। फफूंद लगा खाना कहां से आया, इसकी जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

Tags
Back to top button