छत्तीसगढ़

किसान की मौत मामले में, स्वास्थ्य ही मौत का कारण…..

धान उपार्जन केन्द्र धुमका में धान बेचने आए धुमका क्षेत्र के गिधवा के करण साहू की मौत के बाद छत्तीसगढ़ व जिला भाजपा ने कांग्रेस की भूपेश बधेल सरकार की धान खरीदी पर कई खामियों को गिनाते हुए हाथ में आए

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

राजनांदगांव : राजनांदगांव जिले के धुमका धान खरीदी केन्द्र में धान बेचने गए किसान की मौत के मामले में हो रही जमकर राजनीति के बीच राजनांदगांव कलेक्टर ने किसान की मौत को सामान्य बताया। धान उपार्जन केन्द्र धुमका में धान बेचने आए धुमका क्षेत्र के गिधवा के करण साहू की मौत के बाद छत्तीसगढ़ व जिला भाजपा ने कांग्रेस की भूपेश बधेल सरकार की धान खरीदी पर कई खामियों को गिनाते हुए हाथ में आए इस मुद्दे पर जमकर राजनीति शुरू कर दी वही धुमका धान खरीदी केन्द्र में वर्तमान सांसद संतोष पांडे और पूर्व सांसद अभिषेक सिंह सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता पहुंचकर अपनी राजनीति चमकाने में जुट गए,

लेकिन खाद्य मंत्री ने तत्काल इस मामले को गंभीरता से लेते हुए राजनांदगांव कलेक्टर को जांच के आदेश दिए, कलेक्टर टी.के.वर्मा ने भी तत्काल एसडीएम और तहसीलदार को धटना स्थल और मृतक के धर जाकर प्रारंभिक जांच रिपोर्ट सौंपने कहा, एस.डी.एम. ने प्रारंभिक जांच में कृषक करण की तबीयत पहले से ही खराब होना पाया गया वही दो किस्म के धान में से एक प्रकार का धान तौल भी लिया गया। वही धान खरीदी केन्द्र में अन्य किसानों ने किसी भी प्रकार की लेन देन की बात से इंकार किया है, वही किसान के नाम पर राजनीति चमकाने वाले लोगों के किसान की मौत एक मुद्दा जरूर है, लेकिन किसान करण साहू की मौत उसके परिवार के लिए एक बहुत बड़ी क्षति है जिसकी भरपाई कभी नही हो सकती।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button