छत्तीसगढ़

प्रभारी मंत्री ने किया निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण

राजनांदगांव । प्रभारी मंत्री राजनांदगांव जिला एवं लोक निर्माण, आवास एवं पर्यावरण एवं परिवहन मंत्री श्री राजेश मूणत ने आज निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज, स्टेडियम और ओल्ड रेस्ट हाउस का जीर्णोद्धार कार्य का निरीक्षण किया। मंत्री ने इन प्रोजेक्ट्स को तय समयावधि में पूरा करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट्स में तकनीकी त्रुटि की किसी भी तरह की गुंजाइश नहीं होनी चाहिए। मेडिकल प्रोजेक्ट में दो शिफ्ट में काम हों और जिस शिफ्ट में जिस इंजीनियर की ड्यूटी हो, वो पूरे समय तक मौजूद रहें और सुनिश्चित करें कि निर्माण कार्य पूरी तरह तकनीकी मापदंडों पर हो रहा है। उन्होंने कहा कि तकनीकी त्रुटि की जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की होगी, यह बेहद महत्वपूर्ण कार्य है और समन्वय के साथ प्रोजेक्ट को गुणवत्ता के साथ तय समयावधि में पूरा करें।
उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज प्रोजेक्ट में छह सेक्टर में काम हो रहा है जिसमें फेस 1 का कार्य दिसंबर तक पूरा करें। इसके बाद मार्च तक हर महीने फेस वाइस कार्य पूरा करें। इसके लिए प्लान वर्क आउट करें। इसमें हर हफ्ते का लक्ष्य तय करें। हफ्ते के अंत में बैठें और समीक्षा करें कि प्रोजेक्ट तय समयावधि में चल रहा है या नहीं। यदि प्रोजेक्ट पिछड़ रहा हो तो अगले हफ्ते इसे किस तरह ठीक कर लिया जाएगा, इसका प्लान करें। उन्होंने कहा कि हर हफ्ते की मिनट बुक लिखें। उच्चाधिकारी इसकी नियमित समीक्षा करें। उन्होंने अधिकारियों को सिविल वर्क की टीम बढ़ाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि इसके बगैर काम को समय पर पूरा करने में दिक्कत आ सकती है। उन्होंने कहा कि बिल्डिंग में एसीए फायर फाइटर, प्लास्टर, डक्ट आदि का पूरा कार्य निर्धारित अवधि में करें। उन्होंने कहा कि डक्ट मल्टीपरपस होना चाहिए ताकि बिजली और टेलीफोन की लाइन एक ही साथ आ जाए। उन्होंने कहा कि मॉडल हॉस्टल की एक बिल्डिंग नवंबर के पहले पखवाड़े में खत्म कर लें। यह सर्वसुविधायुक्त होना चाहिए। इसके आधार पर शेष निर्माणाधीन हॉस्टल्स में अतिरिक्त सुविधाएं जोडऩे पर विचार किया जा सकता है। मंत्री ने आडिटोरियम के निर्माण का निरीक्षण भी किया। उन्होंने कहा कि आडिटोरियम के लिए एकास्टिक एवं अन्य आवश्यक तकनीकी बातों का परीक्षण करा लें। उल्लेखनीय है कि 100 सीटर मेडिकल कॉलेज में ग्राउंड फ्लोर के अतिरिक्त तीन और फ्लोर बन रहे हैं। इसकी निर्माण लागत 39 करोड़ रुपए है। इस दौरान लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री अनिल राय, ईएनसी श्री डीके प्रधान, अपर कलेक्टर श्री जेके ध्रुव, चीफ इंजीनियर श्री शर्मा, अधीक्षण अभियंता श्री चक्रवर्ती, कार्यपालन अभियंता श्री समय लाल, एसडीएम श्री अतुल विश्वकर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
15 अगस्त को झंडारोहण होगा दिग्विजय स्टेडियम में-
प्रभारी मंत्री ने दिग्विजय स्टेडियम के जीर्णोद्धार कार्य का निरीक्षण भी किया। यहां कार्य की प्रगति पर उन्होंने असंतोष जाहिर किया और तेजी से कार्य निपटा कर दिसंबर तक तीनों पैवेलियन समाप्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह कार्य किस प्रकार हो पाएगाए इसका वर्क चार्ट एक हफ्ते के भीतर बनाएं। उन्होंने कहा कि इस बार स्वतंत्रता दिवस का झंडारोहण दिग्विज स्टेडियम में होगा।
ओल्ड रेस्ट हाउस के जीर्णोद्धार कार्य का भी किया निरीक्षण-
प्रभारी मंत्री ने ओल्ड रेस्ट हाउस में भी हो रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। वहां उन्होंने कक्षों की व्यवस्था के संबंध में निर्देश अधिकारियों को दिए। मंत्री ने यहां हो रहे फॉल सीलिंग के कार्यों पर भी असंतोष जाहिर किया।
बायपास रोड का किया निरीक्षण-
प्रभारी मंत्री ने बायपास रोड का निरीक्षण भी किया। उन्होंने कहा कि सड़क काफी क्षतिग्रस्त हो गई है। उन्होंने इस सड़क के संबंध में विस्तृत जानकारी एक हफ्ते में देने के निर्देश दिए।

advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.