भारत में स्ट्रोक की समस्या से 4 गुना अधिक लोगों ने गवाई जान

इन बीमारियों के कारण अधिक लोगों की जान जाती है

नई दिल्‍ली। पश्चिमी देशों की तुलना में भारत में स्ट्रोक के कारण चार गुना अधिक लोगों की जान जाती है। वहीं, हृदय संबंधी रोगों के कारण तीन गुना से भी अधिक लोगों को जान गंवानी पड़ती है।

यह चिंताजनक स्थित ब्रिटेन के शोधकर्ताओं द्वारा किए नवीन विश्लेषण में सामने आई है। ब्रिटेन के शोधकर्ताओं द्वारा किए अध्ययन में आया सामने, संपन्न राष्ट्रों की तुलना में कम और मध्यम आय वाले देशों में इन बीमारियों के कारण अधिक लोगों की जान जाती है।

इसके अलावा इस विश्लेषण के आंकड़े यह भी बताते हैं कि पश्चिमी देशों की तुलना में भारत में कैंसर के कारण छह गुना ज्यादा लोगों की जान जाती है।

वहीं, डायबिटीज के कारण जान गंवाने वालों की संख्या तीन गुनी है। नेचर नामक जर्नल में प्रकाशित अध्यन में बताया गया है कि कैंसर, स्ट्रोक व हृदय संबंधी बीमारियां विकसित राष्ट्रों की तुलना में विकासशील देशों में खतरनाक तरह से बढ़ रही हैं।

भारत में इन बीमारियों का कारण मृत्युदर अधिक होने की वजह इनका शुरुआती स्तर में पकड़ में नहीं आना है। चूंकि इसके कारण बीमारी का उपचार देरी से शुरू हो पाता है इसलिए देश को आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ता है।

new jindal advt tree advt
Back to top button